scriptTheir encroachment is becoming the problem of the residents | इनका अतिक्रमण बन रहा शहरवासियों की परेशानी | Patrika News

इनका अतिक्रमण बन रहा शहरवासियों की परेशानी

रोकटोक नहीं तो बेखोफ बढ़ता जा रहा अतिक्रिमण, .यातायात व्यवस्था व सौंदर्यीकरण हो रहा प्रभावित, सड़कों के साथ गलियों में भी हो रहे अतिक्रमण

उज्जैन

Updated: November 30, 2021 10:53:35 pm

उज्जैन. शहर की सुनियोजित बसाहट बिगड़ गई है। अतिक्रमण की अति हो रही है और इन्हें प्रभावी तरीके से रोकटोक करने वाला कोई नहीं है। नतीजा हमारे शहर की सड़कें कब्जे में दब रही हैं, सरकारी गलियों पर निजी राज छा रहा और फुटपाथ पर हर किसी की मनमानी चल रही है।
जनसुविधा के लिए करोड़ो रुपए खर्च कर चौड़ी सड़कें, फुटपाथ, गलियां आदि का निर्माण किया जाता है लेकिन प्रभावी रोकटोक की कमी के कारण इन पर अतिक्रमण पसर रहा है। शहर के अधिकांश फुटपाथ चलने से ज्यादा दुकान लगाने के उपयोग में आ रहे हैं। एेसी ही स्थिति मुख्य सड़क व सर्विस रोड की है। कहीं दुकानों के बोर्ड रखकर यातायात प्रभावी किया जा रहा है तो कहीं ऑटो गैरेज या अन्य दुकानों का अघोषित कब्जा ही हो गया है। यह शहर की यह बिगड़ती स्थिति तब है जब इसे स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के दावे किए जा रहे हैं।
जनता को नहीं मिलती शासकीय गलियां
फ्रीगंज सहित कुछ अन्य क्षेत्रों में हर थोड़ी दूरी पर भवनों के बीच ५-१० फीट की शासकीय गलियां बनाई गईं थी। इनके जरिए आम व्यक्ति पैदल ही कम दूरी तक कर एक रोड से दूसरे रोड पर जा सकता था। वर्तमान में इन गलियों में से अधिकांश पर कतिपय लोगों का कब्जा हो गया है। किसी ने गलियों में निर्माण कर लिया है तो किसी ने अपनी सुविधा के लिए इन्हें बंद कर दिया है। आवाजाही बंद करने के पीछे क्षेत्रवासी या व्यापारी गलियों में अन्य लोगों द्वारा शौच या गंदगी करने का हवाला भी देते हैं।
सड़क पर गैरेज का काम
शहर की कई सड़कें ऑटो गैरेज व गुमटियों के अतिक्रमण में दब रही हैं। सड़कों के किनारे स्थित अधिकांश गैरेज संचालक सड़कों तक वाहन रखकर सुधार करते हैं। इससे सड़कों की चौड़ाई आधी हो जाती है। इसी तरह कई दुकानदार अपनी दुकानों के बोर्ड, होर्डिंग्स, यहां तक कि सामग्रियां भी सड़क किनारे तक फैला देते हैं। इसके चलते यातायात तो प्रभावित होता ही है, दुर्घटना का खतरा भी रहता है।
चलने लायक नहीं फुटपाथ और पोर्च
पैदल यात्रियों के लिए शहर के अधिकांश प्रमुख मार्गों के साथ ही फुटपाथ बनाए गए हैं। अधिकांश फुटपाथों पर हर थोड़ी दूरी में अस्थायी दुकानें लगी मिलती हैं। एेसे में चलने के लिए फुटपाथ का सही उपयोग नहीं हो पाता है। आगरोड के फुटपाथ पर कुछ व्यापारियों ने दुकानों का विस्तार कर लिया है। इसी तरह फ्रीगंज में दुकानों के बाहर पोर्च निर्माण किया गया था ताकि पैदल चलने वाले बारिश, धूप आदि से बचते हुए बाजार में घुम सकें। इन पोर्चों में भी दुकानों का सामग्री रख अतिक्रमण कर लिया गया है।
Their encroachment is becoming the problem of the residents
रोकटोक नहीं तो बेखोफ बढ़ता जा रहा अतिक्रिमण, .यातायात व्यवस्था व सौंदर्यीकरण हो रहा प्रभावित, सड़कों के साथ गलियों में भी हो रहे अतिक्रमण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM Modi, ग्लोबल सर्वे में बाइडेन और ट्रूडो जैसे दिग्गजों को पछाड़ाCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में घटते कोरोना मामलों के बीच वीकेंड कर्फ्यू हटाने का फैसला, CM अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजा पत्र50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाUP Election 2022: राहलु और प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं पर फोकसइंडिया गेट पर लगेगी नेता जी की मूर्ति, पीएम मोदी ने ट्वीट की तस्वीरUP Election 2022: पूर्वांचल में कितना और क्या गुल खिलाएगा अखिलेश का ब्राह्मण कार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.