बोर्ड परीक्षा में ये जरूरी टिप्स जो करेंगे आपकी मदद

परीक्षा में मन लगाकर करें तैयारी, सेहत का रखें ध्यान, तनाव न लें

नागदा. अगले महीने से बोर्ड परीक्षा की शुरूआत होनी है। परीक्षा को लेकर शिक्षा विभाग तैयारी कर रहा है तो बच्चों को पढ़ाई की चिंता लगी है। परीक्षा के दौरान विद्यार्थियों में तनाव की स्थिति सामने आती है। इसे लेकर अनुभवी श्क्षिकों का कहना है कि बेहतर परिणाम के लिए मन लगाकर पढ़ाई करें, न कि किसी तरह का तनाव लें। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि बेहतर अध्यापन के साथ टाइम मैनेजमेंट भी करें, जिससे कि प्रश्न पत्र का हल समय रहते हो सके और कोई भी प्रश्न न छुटे। पालकों के लिए सलाह है कि पढ़ाई के साथ बच्चों की सेहत पर भी ध्यान दें। बच्चों का हौंसला बढ़ाएं, जिससे की वह पूरी ताकत से तैयारी कर सकें।
बच्चों और पालकों के मार्गदर्शन के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा हेल्पलाइन संचालित की जा रही है। यहां विशेषज्ञों का पैनल विद्यार्थियों की काउंसिलिंग के साथ ही उनके हर सवाल का जवाब दे रहे हैं। बच्चों की अध्यापन के साथ ही तनाव आदि की समस्या समाधान के लिए भी मार्गदर्शन दिया जा रहा है। परीक्षा के मददेनजर पत्रिका ने शहर के अनुभवी शिक्षकों, हेल्पलाइन के काउंसलर से बात की। जानना चाहा कि बच्चे कैसे तनाव से बचें और बेहतर परिणाम के लिए अच्छी तैयारी कर सकें। इसे लेकर शिक्षकों और काउंसलरों का कहना है कि परीक्षा के लिए मन लगाकर तैयारी करें न कि किसी तरह का तनाव लें। खास ध्यान देेने की बात यह भी है कि पढ़ाई के साथ सेहत का भी ध्यान रखें।
इन अनुभवी शिक्षकों ने दिए टिप्स
बोर्ड परीक्षा की तैयारी को लेकर पत्रिका ने राकेश जिंदल, धर्मेंद्र गांधी, हरचरण चावला, धर्मेंद्र गुप्ता, जितेंद्र अग्रवाल, योगेश शर्मा, से चर्चा की और टिप्स जानें।
यह खास टिप्स
शिक्षाविद्व योगेश शर्मा का कहना है कि जिन विषयों में अच्छे से तैयारी नहीं है, उन्हें प्राथमिकता में रखे और उन पर ज्यादा ध्यान दें। प्रश्न पत्र के ब्लू प्रिंट के आधार पर इकाई आदि की तैयारी करें। कमजोर विद्यार्थी गणित, विज्ञान व अंग्रेजी के संभावित प्रश्नों की तैयारी करें। सालभर जो पढ़ा है, उसका रिवीजन करें। पालक बच्चों पर पढ़ाई को लेकर दबाव आदि न बनाएं।
ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ. कमल सोलंकी का कहना है कि परीक्षा के दिनों में हल्का भोजन करें, जिससे आलस्य की स्थिति न बनें। समय निश्चित कर पढ़ाई करें। पर्याप्त भोजन करें। साथ ही पूरी नींद भी ले, जिससे स्वास्थ्य संबंधी विपरित परिस्थिति का सामना न करना पड़े। लगातार पढ़ाई के बाद कुछ देर आराम करें। इसके लिए टहलना, खेलना या टीवी देख लें। म्युजिक आदि सुन लें।
शिक्षाविद्व राकेश जिंदल का कहना है कि सहजता से तैयारी करें। परीक्षा को खुद पर हावी न होने दें। परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार तैयारी का प्लान बना लें। घंटों लगातार बैैठने की बजाय रूक-रूककर पढ़ाई करें। हल्का भोजन व पर्याप्त पानी पीए। सात घंटे की नींद अवश्य लें। जिन प्रश्नों का उत्तर अच्छे से याद हो उन्हें पहले हल करें। प्रश्न पत्र पर अंकित दिशा निर्देश जरूर पढ़े। रटने की बजाय लिखकर अभ्यास करें। लिखने की आदत डलेगी परीक्षा में फायदा होगा।

Mukesh Malavat
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned