पुलिस से बचने के लिए ये बदमाश रोज बदलते थे ठिकाना

मामला कुख्यात बदमाश सलमान लाला की गिरफ्तारी का

By: Mukesh Malavat

Published: 11 May 2020, 12:06 AM IST

नागदा. पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए 10 हजार का इनामी बदमाश सलमान लाला सहीत पांचों आरोपी पिछले डेढ़ माह से नागदा में ही रहकर फरारी काट रहे थे। पुलिस से बचने के लिए यह बदमाश रोजाना ठिकाना बदलते थे। हालांकि राजस्थान एवं जावरा निवासी चारों बदमाश शहर को छोडऩा चाह रहे थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण बदमाशों के लिए शहर से निकलना मुश्किल हो रहा था।
यह खुलासा ढाबा व्यवसायी प्रेम राजावत पर प्राणघातक हमला कराने वाले बदमाश सलमान लाला एवं इसके साथ धराऐं आरोपियों ने पुलिस के समक्ष किया है। इसके अलावा आरोपियों से पुलिस को परवलिया निवासी समीउल्ला नाम के बदमाश की जानकारी भी हाथ लगी है। जिसने बदमाशों को भारी मात्र मे जिंदा कारतूस और हथियार उपलब्ध करवाए है। बता दे कि दबिश के दौरान पांचों बदमाशों के पास से पुलिस को एक विदेशी सहित पांच पिस्टल एवं साढ़े सात सौ के करीब जिंदा कारतूस बरामद हुए है, जिनकी कीमत लाखों रुपए में है। पुलिस को अब हथियारों की तस्करी करने वाले इस बदमाश की तलाश है। इधर रविवार को पुलिस ने सलमान सहित पांचों आरोपियों को स्थानीय न्यायालय में पेश किया। कोर्ट ने सलमान और जावरा निवासी अल्फेज से पूछताछ के लिए मंगलवार तक पुलिस रिमांड मंजूर किया वहीं राजस्थान निवासी तीनों बदमाशों को जेल पहुंचा दिया है। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर इनामी बदमाश सलमान लाला सहित पांचों बदमाशों को शनिवार सुबह तड़के छापामार कार्रवाई के तहत बालाराम कुटिया क्षेत्र स्थित एक मकान से गिरफ्तार किया है। इस दौरान पुलिस को बदमाशों के पास से भारी मात्रा में हथियार मिले है, जिसमें वेबी शॉट कंपनी की विदेशी पिस्टल जिसकी बाजार मूल्य लगभग 6 लाख रुपए आंकी गई है। इसके अलावा चार देशी पिस्टल जिनकी कीमत 35 हजार रुपए प्रति नग के हिसाब से एक लाख चालीस हजार रुपए बताई जा रही हैं, साथ ही अलग- अलग पिस्टलों के करीब साढ़े सात सौ जिंदा कारतूस भी पुलिस को मिले है। बाजार में इनकी कीमत लगभग एक लाख दस हजार रुपए के आसपास बताई जा रही है। पुलिस अब इस बात की जांच में लगी है कि बदमाशों के पास हथियारों का इतना बड़ा जखीरा आया कहां से है। हालांकि बदमाशों ने यह हथियार अल्फेज के भाई समीउल्ला से खरीदना बता रहे है। पुलिस ने समीउल्ला की तलाश तेज कर दी है।
प्रापर्टी की भी होगी जांच
थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने बताया की गिरफ्तारी के बाद अब आरोपी सलमान की चल और अचंल संपत्ति की भी जांच की जा रही हैं। इसके लिए पुलिस ने सभी बैंकों और राजस्व विभाग से सलमान लाला के नाम की प्रापर्टी एवं बैंक खातों की डिटेल मांगी है। इसके अलावा पुलिस इस बात की भी जांच में जुटी है कि सलमान लाला के आय के स्त्रोत क्या है। साथ ही इस बात की भी जानकारी एकत्रित की जा रही है कि सलमान लाला की बेमानी संपत्ति किस-किस के नाम पर हैं।
दो प्राणघातक हमला सहित आठ मामले दर्ज है सलमान पर
सलमान लाला पर 19 जून 2019 में प्रापर्टी विवाद के चलते प्रेम राजावत पर धमकी देने एवं जानलेवा हमला करने का मामला सहित नागदा बिरलाग्राम एवं खाचरौद पुलिस थाने में करीब आठ प्रकरण दर्ज हैं। दो मामलों में धारा 307 सहित आईपीसी की कई धाराओं में प्रकरण दर्ज है। प्रेम राजावत हमला मामले में सलमान के साथ चार अन्य आरोपी थे, जिनकी पूर्व में गिरफ्तारी हो चुकी है, लेकिन सलमान हमले के बाद से ही फरार चल रहा था। इधर सलमान के साथ पकड़ाए राजस्थान नौगांव निवासी रेहान पिता रईस, अहमद खान, सलमान और अल्फेज भी अपने क्षेत्र के नामी गुंडे बताए जा रहे हंै। रेहान पर तो राजस्थान पुलिस पर जानलेवा हमला करने का आरोप है, जिस पर पांच हजार का इनाम घोषित कर रखा है। वहीं रेहान के भाई अहमद और सलमान पर भी राजस्थान के विभिन्न थानों में कई अपराधिक रेकार्ड दर्ज हैं। इसी प्रकार अल्फेज पर भी जावरा पुलिस थाने में धारा 307 एवं अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज है।

Mukesh Malavat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned