video : सिंहस्थ सा नजारा : उज्जैन की धरा पर मां नीलगंगा का अवतार...तेरह अखाड़ों के संतों का महासंगम

video : सिंहस्थ सा नजारा : उज्जैन की धरा पर मां नीलगंगा का अवतार...तेरह अखाड़ों के संतों का महासंगम
Devotees,simhastha,Sadhus,ramghat ujjain,ramghat,nilganga,

Lalit Saxena | Updated: 12 Jun 2019, 08:51:07 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

इन दिनों शहर में एक बार फिर सिंहस्थ सा नजारा देखने को मिल रहा है। तेरह अखाड़ों के साधु-संत, विदेशी महिला साध्वियां और भक्तगण सभी मिलकर नीलगंगा क्षेत्र में जमावड़ा लगाए हुए हैं।

उज्जैन. इन दिनों शहर में एक बार फिर सिंहस्थ सा नजारा देखने को मिल रहा है। तेरह अखाड़ों के साधु-संत, विदेशी महिला साध्वियां और भक्तगण सभी मिलकर नीलगंगा क्षेत्र में जमावड़ा लगाए हुए हैं। उज्जैन की धरा पर मां नीलगंगा का अवतार हुआ, जिसमें तेरह अखाड़ों ने हिस्सा लिया।

 

patrika

विदेशी महिला साधुओं ने सरोवर में किया स्नान
नीलगंगा क्षेत्र में बने सरोवर में बुधवार सुबह साधु-संतों और विदेश से आई महिला साध्वियों ने स्नान किया। यह नजारा देख शिप्रा के रामघाट तीर्थ पर हुए वर्ष 2016 के सिंहस्थ में शाही और पर्व स्नान की यादें सहज ही ताजा हो गईं।

 

patrika

अखाड़ा परिषद के प्रधान केंद्रीय कार्यालय का उद्घाटन
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के प्रधान केंद्रीय कार्यालय का उद्घाटन समारोह उज्जैन के इतिहास में यादगार बन गया। बुधवार को उज्जैन में सिंहस्थ सा नजारा देखने को मिला। नीलगंगा क्षेत्र में शिवलिंग भवन लोकार्पण किया गया। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी और महामंत्री हरि गिरि जी महाराज ने तेरह अखाड़ों की मौजूदगी में मुख्य कार्यालय का उद्घाटन किया गया।

 

patrika

जूना अखाड़े के भवन पर साधु-संतों का जमावड़ा
नीलगंगा पर बने जूना अखाड़े के भवन पर साधु-संतों का जमावड़े ने शहर में सिंहस्थ की यादों को ताजा कर दिया। देश के विभिन्न मठ-मंदिरों से महामंडलेश्वर व संत यहां गंगा दशहरा महोत्सव के लिए जुटे हुए हैं। दोपहर में नीलगंगा सरोवर पर स्नान हुआ फिर शाम को सिंहस्थ पड़ाव स्थल पर ब्रह्म नीलगंगा नृत्य नाटिका व प्रयागराज के प्रसिद्ध भजन गायक मिश्र बंधुओं की भजन संध्या आयोजित हुई।

भवन का लोकार्पण
बुधवार सुबह 10.30 बजे नीलगंगा पर बने शिवलिंग आकार के जूना अखाड़ा के भवन का लोकार्पण हुआ। इससे पूर्व सुबह 7 बजे साधु-संत प्राचीन नीलगंगा सरोवर पर स्नान किया। जूना अखाड़ा के प्रवक्ता महंत नारायणगिरी महाराज के अनुसार दो दिनी गंगा दशहरा के अवसर पर यह आयोजन किए जा रहे हैं। इससे पहले नगर परिभ्रमण कर शोभायात्रा निकाली गई। नीलगंगा सरोवर तीर्थ में साधु-संतों और विदेश से आई महिला साधुओं ने स्नान किया।

13 अखाड़ों के साधु-संत हैं मौजूद
अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्रगिरि महाराज, महामंत्री हरिगिरि महाराज, महामंडलेश्वर सोमनाथ गिरी पायलट बाबा, महामंडलेश्वर व आयोजन प्रमुख शैलेषानंद गिरी, महामंडलेश्वर शैलजा माता जूनागढ़, महामंडलेश्वर पंचानंद गिरी, नारायणगिरी महाराज, किन्नर अखाड़े के महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी आदि यहां मौजूद हैं।

 

patrika

कलश यात्रा के साथ निकले साधु-साध्वी
बुधवार को भवन का सुबह 10.30 बजे समारोह पूर्वक लोकार्पण किया गया। इससे पूर्व सुबह 7 बजे साधु-महात्मा सरोवर में स्नान किया। कलश यात्रा संयोजक राजेश जारवाल के अनुसार शाम 5 बजे रामघाट से भव्य कलश यात्रा निकाली गई, जो हरसिद्धि, चारधाम, हरिफाटक ब्रिज, केशव नगर होते हुए नीलगंगा पहुंची। जिसमें बैंड, बग्गी के साथ महिलाएं सिर पर कलश लेकर चलीं।

पायलट बाबा का पट्टाभिषेक
शाम के समय महामंडलेश्वर पायलट बाबा का नीलगंगा पीठाधीश्वर के रूप में पट्टाभिषेक किया गया। इसके बाद पड़ाव स्थल के भव्य मंच पर भजन सम्राट और बिग बोस सीजन 12 में पार्टिसिपेट करने वाले ख्यात गायक अनूप जलोटा की भजन संध्या हुई। वहीं समीप में विशाल भंडारे का आयोजन हुआ, जिसमें शहर के सभी धर्मालुजन आमंत्रित रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned