पुजारी दंपती की आत्महत्या में सामने आए यह किरदार

पुजारी दंपती की आत्महत्या में सामने आए यह किरदार
Rekha,appeared,Character,sapna,

anil mukati | Publish: Apr, 20 2019 07:00:00 AM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

विधवा महिला से पुजारी देवकरण के सिंहस्थ में बने थे संबंध, ब्लैकमेलिंग से तंग आकर की आत्महत्या

उज्जैन. पिपलीनाका क्षेत्र में बुधवार दोपहर पुजारी देवकरण ने पत्नी अंतिमबाला की हत्या कर आत्महत्या कर ली थी । सुसाइड नोट व अन्य साक्ष्य के आधार पर पुलिस ने दो दिन में आत्महत्या की कहानी का लगभग खुलासा कर लिया है। घटना के पीछे अवैध संबंध और ब्लैकमेलिंग कारण बना। देवकरण के एक विधवा महिला से संबंध थे। जो अपने दो साथी के साथ मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रही थी। देवकरण छह माह से आरोपियों से परेशान था। सामाजिक प्रतिष्ठा बचाने के लिए उसे जब कोई रास्ता नहीं मिला तो उसने आत्मघाती कदम उठा लिया। घटना के बाद मौके से मिले सुसाइड नोट से पुलिस आरोपी महिला तक पहुंची। गुरुवार रात जब पुलिस नीलगंगा क्षेत्र निवासी महिला रेखा को हिरासत में लेने पहुंची तो वह अनजान बन गई और पुलिस से ही सवाल दाग दिया कि क्या देवकरण मर गया।
मंदिर की कमाई तक छीन लेते थे
सिंहस्थ २०१६ में रेखा और देवकरण की दोस्ती हुई। इसके बाद एक पूजन के दौरान जबरदस्ती गले में फोटो डालकर दोनों ने फोटो खींचवा लिए। इस समय तक देवकरण को फोटो का उपयोग समझ नहीं आया, लेकिन एक वर्ष बाद देवकरण की शादी हो गई। इससे दोनों के बीच विवाद होने लगा। मामला कुछ शांत भी हुआ, लेकिन इनकी कहानी में बहन सुमन और लखन आ गए। लखन ने देवकरण पर दबाव बन शुरू किया। इसके बाद पैसे की मांग शुरू हो गई। आरोपी देवकरण से उसके मंदिर से मिले पैसे तक छीन लेते थे।
देवकरण पर लगाए ब्लैकमेल करने के आरोप
पुलिस ने तीनों आरोपी को राउण्डअप कर लिया है। पुलिस पूछताछ कर रही है। इस पूछताछ में इन्होंने देवकरण पर ही ब्लैकमेल करने के आरोप लगाए हैं। पुलिस कॉल डिटेल सहित अन्य आधार पर साक्ष्य जुटा रही है। पुलिस जांच में सामने आया है कि बीते छह माह में लाखों रुपए का लेनदेन हुआ है। साथ ही अब आरोपी उसकी संपत्ति भी हड़पना चाह रहे थे। शुक्रवार को जीवाजीगंज थाने में पुलिस तीनों से पूछताछ करती रही।
यह है किरदार
रेखा - नीलगंगा निवासी रेखा सिकरवार विधवा है। सिंहस्थ में एक पूजन के दौरान देवकरण के सम्पर्क में आई। इसके बाद एक मंदिर पर दबाव में एक मंदिर की छत पर आपस में फूल माला डालकर शादी जैसे फोटो खींच लिया। इसके बाद देवकरण की शादी हो गई। इसी आधार पर उसे ब्लैकमेल किया।
सुमन - इंदौर निवासी सुमन रेखा की बहन है। वह करीब आठ माह से स्थाई तौर पर उज्जैन में रह रही है। एक साड़ी की दुकान पर काम करती है। सुमन पारिवारिक विवाद के चलते पति से अलग है।
लखन - लखन और सुमन एक साथ साड़ी की दुकान पर काम करते हैं। सुमन ने रेखा की कहानी लखन को बताई तो वह बीच में आ गया। वह देवकरण के घर धमकाने के लिए जाता था और पैसे का लेनेदेन भी करता था। अभी तक जांच में सामने आया है कि लखन महिलाओं की मदद की आड़ में देवकरण से पैसे एेंठ रहा था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned