scriptThis taste of winter will boost your health too | सर्दी का ये स्वाद आपकी सेहत को भी करेगा बूस्ट | Patrika News

सर्दी का ये स्वाद आपकी सेहत को भी करेगा बूस्ट

घरों से आने लगी गर्म तासीर के व्यंजनों की महक, इस साल नहीं बढ़े दाम, आम आदमी की पहुंच में सूखे मेवे

उज्जैन

Published: December 31, 2021 12:35:38 pm

अनिल मुकाती

उज्जैन. सर्दी का मौसम सेहत के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है। इस मौसम में अच्छा खान-पान और व्यायाम पूरे साल के लिए बूस्टर डोज का काम करता है। सेहत के लिए फिक्रमंद लोग ठंड का इंतजार करते हैं, ताकि स्वाद के साथ ही सेहत भी बनाई जा सके। अभी तापमन तेजी से नीचे गिर रहा है, यह समय गर्म व्यंजनों के सेवन के लिए सबसे बेहतर है। ऐसे में घरों से भी व्यंजनों की खुशबू आने लगी है। आमतौर पर घरों में हलवा, लड्डू, चिक्की, बर्फी, तिल्ली की गजक आदि बनाई जा रही है, जो एक अलक ही जायका दे रही है। इन व्यंजनों में पडऩे वाले ड्राय फू्रट्स के दाम इस बार भी पिछले साल की तरह ही हैं, हां कुछ के दाम जरूर बढ़े हैं, लेकिन वे भी सामान्य ही है।
यह हैं सर्दी के व्यंजन
ड्राय फ्रूट और गौंद के लड्डू: हर घर में सूखे मेवों और गौंद के लड्डू जरूर बनाए जाते हैं। इन लड्ड्ूओं में पडऩे वाला गौंद बहुत गुणकारी होता है। साथ ही काजू, बादाम, खारिक, खोपरा, पिस्ता, अखरोट और घी भी इसमें डलते हैं। इस लड्डुओं को सुबह के नाश्ते के समय खाया जाता है। इसके बाद एक गिलास गर्म दूध जरूर पीना चाहिए, ताकि ये आसानी से डायजेस्ट हो जाए। ड्रायफ्रूट लड्डू के सेवन से हड्डियां मजबूत बनती है, शरीर में ऊर्जा का संचार होता है और रक्त भी बढ़ता है, जिससे चेहरे पर चमक नजर आती है। दुबले-पतले लोगों में वजन बढ़ाने में भी यह लड्डू सहायक होता है।
उड़द दाल के लड्डू: उड़द की दाल बहुत गुणकारी होती है। इसमें मौजूद चिकनाई के कारण यह हर किसी को आसानी से हजम भी नहीं होती। सर्दी के मौसम में घरों में खास तरह के उड़द के लड्डू बनाए जाते हैं। इनके सेवन से हृदय मजबूत होने के साथ ही खून साफ होता है, पुराने हड्डी के दर्द में आराम मिलता है, रक्त संचार सामान्य बना रहता है।
खसखस का हलवा: खसखस बहुत ही गुणकारी होता है। शुद्ध घी में इसका हलवा बनाया जाता है। यह भी सुबह खाली पेट ही खाया जाता है। आम तौर पर इसे खाने के बाद नींद आती है। ज्यादा मात्रा में इसका सेवन नुकसानदायक भी हो सकता है। खसखस का सेवन करने से सर्दी- खांसी ,ह्रदय रोग, उलटी, त्वचा रोग, बुखार, धातुदोष, सिरदर्द, रक्त विकार, पेशाब की जलन, सांस के रोग, पित्त रोग, मांसपेशियों की ऐंठन, हार्मोनल समस्याओं में फायदा होता है।
गाजर और मूंग का हलवा: गाजर और मूंग का हलवा लगभग हर घर में सभी को पसंद आता है। आमतौर पर यह सामान्य रूप से ही बनता है। हां इनमें घी और ड्रायफ्रूट की मात्रा थोड़ी ज्यादा हो तो स्वाद दोगुना हो जाता है। मूंग का हलवा शरीर में गर्मी पैदा करता है। इसलिए ज्यादा मात्रा में इसे नहीं खाया जा सकता है।
तिल्ली के लड्डू: दिसंबर के बाद जनवरी माह में तिल्ली की मांग बढ़ जाती है। संक्राति के समय तिल खाने का पौराणिक महत्व भी है। गुड़़ के साथ बनाए गए तिल के लड्डू स्वाद के साथ शरीर को ऊर्जावान बनाने में भी सहायक होते हैं।
मूंगफली की चिक्की: मूंगफली की चिक्की बहुत ही लोकप्रिय मिठाई है। यह बाजार में भी आसानी से कम दामों में उपलब्ध हो जाती है, इसलिए यह हर वर्ग की पसंद है। इसे मूंगफली के दानों के साथ गुड़ की चाशनी में बनाया जाता है। गुड़ की गर्माहट और मूंगफली का प्रोटीन शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति करता है।
ड्रायफ्रूट चिक्की: जिस से तरह से मूंगफली की चिक्की बनाई जाती है, उसी तरह से ड्रायफ्रूट की चिक्की भी बनाई जा सकता है। इसमें गुड़ की चाशनी में मूंगफली के स्थान पर काजू-बादाम, पिस्ता आदि का उपयोग किया जा सकता है।
(उपरोक्त जानकरी डॉ अतुल भावसार और डायटिशियन निशा शर्मा के अनुसार)
सर्दी का ये स्वाद आपकी सेहत को भी करेगा बूस्ट
हर घर में सूखे मेवों और गौंद के लड्डू जरूर बनाए जाते हैं। इन लड्ड्ूओं में पडऩे वाला गौंद बहुत गुणकारी होता है। साथ ही काजू, बादाम, खारिक, खोपरा, पिस्ता, अखरोट और घी भी इसमें डलते हैं।
बाजार में यह है ड्रायफ्रूट के दाम (रुपए/किलो)
काजू 750-800
बादाम 650-750
खारिक 200
खोपरा 250-280
गौंद 380
खसखस 1800
पिस्ता 1700
अखरोट 650
अंजीर 800
किशमिश 300
मूंगफली दाना 110
उड़द दाल 100
तिल्ली 160
्गुड़ 40
घी 400-550
केसर 200(एक ग्राम)
(भाव किराना व्यापारी त्रिलोक राठौर के अनुसार)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.