scriptThis temple of Sati Mata was always the center of neglect | हमेशा से उपेक्षा का केंद्र रहा सती माता का यह मंदिर | Patrika News

हमेशा से उपेक्षा का केंद्र रहा सती माता का यह मंदिर

महाकाल मंदिर के आसपास चल रहे निर्माण कार्यों में प्राचीन धरोहरों का न हो विनाश

उज्जैन

Published: November 15, 2021 08:35:23 pm

उज्जैन. महाकाल मंदिर के प्रमुख गेट पर स्थापित अति प्राचीन माता सती का यह मंदिर प्रशासन की नजरों में हमेशा से उपेक्षा का ही केंद्र रहा है। मंदिर के आसपास जब खुदाई नहीं हुई थी, चारों तरफ बैरिकेड्स थे जहां से दर्शनार्थियों की भीड़ निकलती थी, लेकिन मंदिर के पीछे से यह भीड़ निकाली जाती थी, उस समय दर्शनार्थियों को इनके दर्शन भी नहीं हो पाते थे। बारिश में इस मंदिर की दीवारों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई, छत हमेशा टपकती रहती थी, जिससे प्रतिमा को खराब होने का डर बना रहता था, तब भी प्रशासन ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। अब जब कि स्मार्ट सिटी के चलते मृदा प्रोजेक्ट के तहत यहां सौंदर्यीकरण और निर्माण कार्य चल रहे हैं, तो मंदिर को हटाने की बात कही जा रही है।

69345532.jpg

स्मार्ट सिटी के तहत महाकालेश्वर मंदिर और उसके आसपास के क्षेत्र का विकास कार्य चल रहा है, जिसके तहत महाकालेश्वर मंदिर के मुख्य द्वार पर वर्षों से स्थापित सती माता के मंदिर को हटाने की कवायद की जा रही है। पूर्व में भी इस प्रतिमा को हटाने के विरोध में धर्म शास्त्री और विद्वानों ने अपनी बात प्रशासन के सामने रखी थी कि यदि प्रतिमा को हटा दिया जाएगा, तो उसके दुष्परिणाम हम सभी को भोगने पड़ सकते हैं, क्योंकि ये वही सती माता हैं, जिनकी वजह से भगवान शिव ने रौद्र रूप धारण कर लिया था। उनके अधजले शरीर को उठाकर वे जहां-जहां भी गए, वहां-वहां आज शक्तिपीठ स्थापित हैं।

Must See: जेल से साइबर क्राइम, विभागीय जांच के घेरे में पूर्व जेल अधीक्षक,भोपाल तलब

प्रतिष्ठित प्रतिमाओं को अन्यत्र रखा जा रहा
प्रशासन द्वारा इस मंदिर को हटाने की तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है। कभी भी जेसीबी लाकर इसे जमींदोज कर सकते हैं। इससे पहले भी यहां कई छोटे-बड़े मंदिरों को हटाया जा चुका है, उनमें स्थापित प्राण प्रतिष्ठित प्रतिमाओं को यहां-वहां रखा जा रहा है। इसमें धर्मशास्त्रियों और यहां के विद्वानों का कहना है कि जितना विस्तार नहीं हो रहा है, उससे ज्यादा विनाश किया जा रहा है। शहर के प्राचीन धरोहर और प्राण प्रतिष्ठित प्रतिमाओं को अपने स्थान से हटाकर अन्यत्र जगह रखा जा रहा है, जो सनातन धर्म के विपरीत है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM Modi, ग्लोबल सर्वे में बाइडेन और ट्रूडो जैसे दिग्गजों को पछाड़ाCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में घटते कोरोना मामलों के बीच वीकेंड कर्फ्यू हटाने का फैसला, CM अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजा पत्र50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाआखिर करहल विधानसभा सीट से ही क्यों चुनाव लड़ना चाहते हैं अखिलेश यादवUP Election 2022: राहलु और प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं पर फोकसइंडिया गेट पर लगेगी नेता जी की मूर्ति, पीएम मोदी ने ट्वीट की तस्वीर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.