रेलवे रूट की पूरी पटरी उखड़ी... २०१९ में फिर हवा से बात करेगी ट्रेन

Gopal Bajpai

Publish: Jan, 14 2018 11:22:46 AM (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
रेलवे रूट की पूरी पटरी उखड़ी... २०१९ में फिर हवा से बात करेगी ट्रेन

ब्रॉडगेज परिवर्तन प्रोजेक्ट का सांसद ने डीएआरएम के साथ किया दौरा, चिंतामण स्टेशन को भी नए लुक में संवारेंगे, स्टेशन पर एस्केलेटर व लिफ्ट लगाने चर्चा

उज्जैन. उज्जैन-फतेहाबाद गेज परिवर्तन के लिए मीटरगेज ट्रैक को लगभग पूरा उखाड़ दिया गया है। टेंडर संबंधी प्रक्रिया पूर्ण होने पर १८ किमी के इस ट्रैक पर ब्रॉडगेज लाइन बिछेगी। दो साल में काम पूरा होगा और साल २०१९ में इस ट्रैक पर सरपट रेल दौडऩे लगेगी। सांसद चिंतामणि मालवीय ने शनिवार सुबह ११ बजे डीआरएम एसएन सुनकर व अन्य अधिकारियों के साथ साइट का निरीक्षण किया। वे चिंतामण रेलवे स्टेशन पहुंचे और प्रोजेक्ट पर बातचीत की। बाद में उज्जैन स्टेशन पर अन्य प्रोजेक्ट पर चर्चा की।


२४५.०८ करोड़ के इस गेज परिवर्तन के लिए साल २०१९ की डेडलाइन है। शनिवार को रेलवे अधिकारियों ने प्रोजेक्ट डीपीआर व रूट पर बनने वाले स्टेशनांे को लेकर चर्चा की। सांसद ने चिंतामण जवासिया रेलवे स्टेशन को भी नए लुक मंे संवारने के निर्देश दिए। रेल सुविधाओं व स्टॉपेज बढ़ाने संबंधी चर्चा की। इस दौरान रेलवे सलाहकार समिति के महेंद्र गादिया, विजय अग्रवाल, राकेश तिवारी, मिलिंद त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।


मेमू ट्रेन मे टॉयलेट का प्रस्ताव दे दिया
उज्जैन से दाहोद के बीच संचालित मेमू ट्रेन मे टॉयलेट सुविधा पर डीएआरएम ने कहा हमने रेलवे जीएम को प्रस्ताव भेज दिया है। सांसद मालवीय ने बामनिया स्टेशन पर इस कमी के कारण पिछले दिनों हुई घटना का उल्लेख कर कहा इसे प्राथमिकता से कराएं। डीआरएम ने बताया मेमू ट्रेन में नए शौचालय युक्त कोच मांगे है, स्वीकृत होने पर नए कोच लगाकर मेमू का संचालन होगा। बता दें, पटेल नगर उज्जैन निवासी मेडिकल संचालक की रेल से कटकर मृत्यु हो गई थी।


१६ किमी दूरी कम, १८ गांवांे को लाभ
उज्जैन से फतेहाबाद ? रेलवे रूट के गेज परितर्वन कई दशक से लंबित है। उज्जैन से फतेहाबाद होकर इंदौर का रास्ता ६३ किलोमीटर है, जो अभी देवास होकर ७९ है। इसी के साथ उक्त मार्ग के करीब १८ गांव रेल सेवा से जुड जाएंगे। सबसे ज्यादा लाभ ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को होगा। जो किसान व दुग्ध व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। उज्जैन, इंदौर देवास के बीच रेलमार्ग का सर्किल भी बन जाएगा।


इन सुविधा व प्रोजेक्ट पर मंथन

  1. इंदौर-रतलाम ब्रॉडगेज सेक्शन वाया फतेहाबाद ट्रेनों में कोच बढ़ाने व समयचक्र को यात्रियों के अनुरूप करने।
  2. उज्जैन-देवास-इंदौर रेलपथ दोहरी करण। ७०० करोड़ के इस प्रोजेक्ट पर डीआरएम ने कहा टेंडर प्रक्रिया चल रही है। कुछ माह मंे काम शुरू कराएंगे।
  3. उज्जैन-नागदा मार्ग पर गंभीर ब्रिज को डबल लाइन करने ३५ करोड़ बजट में मंजूर है। सांसद बोले जल्द ये काम कराएं।
  4. प्लेटफॉर्म नंबर पर एस्कलेटर व लिफ्ट को जरूरी बताया। अधिकारी बोले सिंहस्थ दरमियान इसका काम सुरक्षा के मद्देनजर रुकवाया था, टेंडर मंजूर है, अब करा लेंगे।
  5. उज्जैन रेलवे स्टेशन पर प्रस्तावित वातानुकूलित प्रतीक्षालय व शयनयान यात्री पुरुष व महिला के लिए प्रतीक्षालय आदि के लिए स्थल तय हो चुका है। यह काम भी जल्द पूरा करने पर चर्चा हुई।
  6. उज्जैन प्लेटफॉर्म नंबर ८ पर दरगाह के पास रेलवे भूमि पर अतिक्रमण कर गैराज संचालित हो रहे हैं। मौका देखने पर डीआरएम ने अतिक्रमण हटाने को कहां।
  7. नागदा स्टेशन के लिए भी लिफ्ट मंजूर है, इसका काम शुरु करने के निर्देश सांसद ने दिए।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned