उज्जैन की युवती कल वाहन चोरी में पकड़ाई, यूं मिल गई जमानत

पुलिस ने बाइक चोरी में पकड़ाए तीनों आरोपियों को न्यायालय में किया पेश, युवकों को भी पहला अपराध के आधार पर मिली जमानत

उज्जैन. स्कूटर चोरी में पकड़ाई कलालसेरी क्षेत्र की युवती को न्यायालय से जमानत मिल गई है। कोर्ट ने युवती को विद्यार्थी होने व पहला अपराध के चलते जमानत दी है। वहीं चोरी पकड़ाए दोनों युवकों को भी पहले अपराध के आधार पर जमानत दे दी गई।

चिमनगंजमंडी पुलिस ने गाड़ी चोरी के मामले में कलालसेरी की 18 वर्षीय युवती के साथ सलमान (26) पिता अब्दुल खान व शोएब (18) उर्फ समीर पिता यूसुफ दोनों निवासी फाजलपुरा को पकड़ा था। इनके पास से चोरी के तीन स्कूटर व एक बाइक बरामद हुई थी। युवती ने बताया कि उसने कोचिंग जाने के लिए गाड़ी चुराई है। उसे रास्ते में एक चाबी मिली थी। इससे एक गाड़ी स्टार्ट हो गई थी। युवती ने नानाखेड़ा क्षेत्र से दो गाडिय़ां चुराना भी कबूल किया था। मामले में पुलिस ने तीनों आरोपी को बुधवार को अतिरिक्त मुख्य न्या्रयिक दंडाधिकारी आशीर्वाद भिलाला की कोर्ट में पेश किया। यहां पर युवती के वकील रवि केलकर ने पैरवी की। उन्होंने कोर्ट के सामने युवती के अध्ययनरत होने, कम उम्र होने तथा पहला अपराध करने के आधार पर जमानत मांगी गई। कोर्ट के सामने युवती की १२वीं की मार्कशीट, वर्तमान में पढ़ाई की जानकारी भी दी गई। इस पर कोर्ट ने जमानत के आदेश दे दिए। वहीं पुलिस के मुताबिक अपराध में शामिल शोएब व सलमान को भी पहला अपराध के आधार पर जमानत दे दी गई।
युवती के परिवार की आर्थिक हालत ठीक नहीं

युवती के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। एसआई रवींद्र कटारे ने बताया कि युवती के पिता की पिछले वर्ष मौत हो गई थी। वहीं मा एक निजी स्कूल में पढ़ाती है, उनका वेतन 3-4 हजार रुपए है। एक छोटा भाई है, जो पढ़ाई कर रहा है। पुलिस का मानना है कि आर्थिक परेशानी से जूझ रही युवती गाड़ी चोरी में उलझ गई। हालांकि चोरी की गाड़ी से वह खुद ही कोचिंग व अन्य जगह जाती थी। इसके लिए वह गाड़ी के नंबर प्लेट बदलने के साथ कभी बगैर नंबर की गाड़ी का उपयोग करती थी।

जितेंद्र सिंह चौहान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned