पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती अपने अभियान से लाएगी नई क्रांति

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती अपने अभियान से लाएगी नई क्रांति

Gopal Bajpai | Publish: Feb, 14 2018 10:52:44 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

राजनीति से सन्यास पर कायम, कहा लिखित में दूंगी बयान, किसी पद की नहीं अब कोई चाह

उज्जैन. मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री उमा भारती नए अभियान पर निकलने वाली है। इस अभियान के तहत हर गांव को निर्मल बनाने के साथ ही हरित क्रांति देशभर में फैलाई जाएगी। उमा भारती ने अब स्वच्छता अभियान के संदेश को गांव-गांव फैलाने और जमीनी काम करने की बात कही है। उमा भारती राजनैतिक रूप से लंबे समय पर हाशिए पर है। मुख्यमंत्री पद जाने के बाद उन्होंने भाजपा को छोड़कर नई पार्टी बनाई और फिर भाजपा में आ गई। इसके बाद उन्हें उत्तर प्रदेश भेज दिया गया। इसके बाद झांसी सांसद होकर वह केंद्र में मंत्री बन गई, लेकिन कुछ माह से मध्यप्रदेश में उनकी सक्रियता बढ़ी है। इससे भाजपा के राजनैतिक गलियारों में हलचल है।

स्वच्छता के लिए उमा का नया अभियान
देश में स्वच्छता अभियान के तहत हर गांव को निर्मल बनाया जाएगा। इसके लिए ओडीएफ प्लस अभियान संचालित होगा। इसका उद्देश्य हर गांव को निर्मल बनाने के साथ हरित क्रांति होगा। यह अभियान 20 फरवरी से उत्तराखंड से शुरू होगा। प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री उमा भारती अपने अभियान की जानकारी देने के लिए बुधवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से रूबरु हुई।


राजनीति से सन्यास, लिखकर दूंगी
उमा भारती ने कुछ दिन पूर्व ही राजनीति से सन्यास लेने का बयान दिया था। साथ ही खुद को मुख्यमंत्री के पद की रेस से अलग कर दिया था। पत्रकारों ने उमा से उनके इस बयान के संबंध में चर्चा की। तो उन्होंने कहा कि अब इस विषय में वह लिखित बयान जारी करेंगी। जल्द ही बयान से संबंधित अपनी स्थिति को स्पष्ट कर देगी।


कैलाश के बयान पर चुप्पी
महाशिवरात्री के अवसर पर बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने प्रदेशाध्यक्ष के पद को छोटा बता दिया था और बड़ी सोच की बात कही थी। उमा से जब पत्रकारों ने कैलाश के बयान पर प्रतिक्रिया चाही। तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। उनका कहना था कि उक्त संबंध में कैलाश से ही बात की जाएं।

Ad Block is Banned