बड़े काम के हैं ये डिप्लोमा और डिग्री कोर्सेस, तुरंत दिलाएंगे जॉब

शुरू हो रहे नए 117 डिप्लोमा और 282 सर्टिफिकेट कोर्स

By: deepak deewan

Published: 24 Jul 2021, 01:27 PM IST

उज्जैन. मध्यप्रदेश में कालेजों में अब रोजगार मूलक यानि जॉब ओरिएंटेड कोर्सेस पर जोर दिया जा रहा है। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश भर के कॉलेजों में जॉब ओरिएंटेड डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स नए शिक्षा सत्र से शुरू किए जा रहे हैं। विभाग का कहना है कि छात्र-छात्राओं के बीच व्यापक सर्वे के बाद ये डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स शुरू किए जा रहे हैं।

Tragic Love Story प्रेमिका की मौत का गम नहीं सह सका प्रेमी, ट्रेन के सामने कूद कर ली खुदकुशी

जानकारी के अनुसार नए शिक्षा सत्र से प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में 117 डिप्लोमा और 282 से ज्यादा सर्टिफिकेट कोर्स शुरू किए जाने की तैयारी है। सर्टिफिकेट कोर्स 6 महीने का और डिप्लोमा कोर्स एक साल का होगा। खास बात यह है कि डिग्री कोर्स करते हुए छात्र-छात्राएं सर्टिफिकेट कोर्स भी कर सकेंगे। इन कोर्स के माध्यम से युवाओं को तुरंत रोजगार उपलब्ध हो सकता है।

नालों के तेज बहाव में बहे लोग, कई किमी दूर मिला एक शव

विभाग द्वारा इन कोर्स के दौरान छात्र-छात्राओं को इंटर्नशिप की व्यवस्था भी कराई जाएगी। छात्र-छात्राओं को विभिन्न कंपनियों में ट्रेनिंग कराई जाएगी और इसके बाद उसी कंपनी में नौकरी दिलाने की कोशिश की जाएगी।
विक्रम विश्वविद्यालय में भी ये जॉब ओरिएंटेड कोर्स शुरू होंगे। अभी विक्रम विश्वविद्यालय में कुल 34 कोर्स संचालित हो रहे हैं जबकि इस शैक्षणिक सत्र से 150 नए कोर्स शुरू हो जाएंगे।

स्कूल खुलने के दिन नियत , केलेंडर और गाइडलाइन जारी

इनमें यूजी, पीजी, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स शामिल हैं। विश्वविद्यालय में प्रारंभ होनेवाले नवीन पाठ्यक्रम पर परिचर्चा आयोजित की गई है। परिचर्चा में शामिल होने के लिए मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव विशेष रूप से यहां आए हैं। इस अहम परिचर्चा में पूर्व कुलपति राम राजेश मिश्र व कुलपति अखिलेश कुमार पांडे भी मौजूद हैं।

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned