MP ELECTION 2018 : आयोग का फरमान, पहली बार साथ ले जाने वाले सामान की सूची थमाई

MP ELECTION 2018 : आयोग का फरमान, पहली बार साथ ले जाने वाले सामान की सूची थमाई

Lalit Saxena | Publish: Nov, 25 2018 07:00:00 AM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

मतदान कराने वाले कर्मचारियों, अधिकारियों से कहा गया है कि अपनी आवश्यकता का सामान साथ ले जाएं।

उज्जैन. मतदान कराने वाले कर्मचारियों, अधिकारियों से कहा गया है कि अपनी आवश्यकता का सामान साथ ले जाएं। किसी से बातचीत नहीं करें। किसी का सत्कार, भोजन नाश्ता स्वीकार नहीं किया जाए। संभवत: पहली बार कुछ आवश्यक सामग्री ले जाने वाली सूची थमाई गई है। सूची भारत निर्वाचन आयोग ने मतदान दलों के लिए तैयार की है।

दलों को कुछ हिदायतें भी दीं
विधानसभा चुनाव के तीन दिन शेष हैं और इसके लिए आयोग के निर्देशानुसार कार्य किया जा रहा है। भारत निर्वाचन आयोग ने आवश्यक सामग्री की सूची के साथ मतदान दल को कुछ हिदायतें भी दी हैं। पोलिंग बूथों पर मतदान कराने के लिए तैनात किए गए मतदान दल के पांच अधिकारी-कर्मचारियों को वहां रहने तथा मतदान कराने में दिक्कत नहीं हो, इसलिए उन्हें अपने साथ कुछ आवश्यक सामग्री ले जाने के निर्देश दिए गए हैं। अधिकारियों से कहा है कि वह मॉस्किटो क्वाइल, माचिस व ग्लूकोज का पैकेट अवश्य ले जाएं। ग्लूकोज जहां घबराहट से मुक्ति दिलाएगी तो मॉस्किटो क्वाइल मच्छरों से मुक्ति देगी। माचिस का उपयोग चपड़ी से सील पैकिंग करने में उपयोग आ सकेगी।

दो दर्जन से अधिक सामग्री की सूची
अधिकारी-कर्मचारियों को दो दर्जन से अधिक सामग्रियों की सूची भी दी गई है, जो मतदान दलों में शामिल सदस्यों के ले जानी होगी। इसमें विशेषकर ठंड से बचने के लिए कपड़े और रात में सोने के लिए कम्बल या शॉल भी आवश्यक रूप से रखने के लिए कहा है। इसके अलावा छोटी टॉर्च, साबुन, बिस्कुट, टूथ ब्रश, टूथ पेस्ट, हेयर आयल पाउच, कंघी, ग्लूकोज, तौलिया, एक जोड़ कपड़े, चादर या कम्बल, ड्यूटी लेटर की एक अतिरिक्त फोटो कॉपी, एक्स्ट्रा मोबाइल बैटरी या पावर बैंक, फोन चार्जर, पेन, पॉकेट या पर्स में जरूरी कैश, सादा पेपर (ए-4 साइज) चप्पल, अंडरगारमेंट्स, मोजे, मॉस्किटो क्वाइल या मच्छर बत्ती, माचिस, पानी की बोतल या गिलास, एक छोटी प्लेट सहित चम्मच। मतदान दल जरूरत की सामग्री भी अपने साथ ले जा सकते हैं।

यह भी दिए निर्देश
- किसी से भी भोजन या जलपान स्वीकार नहीं करें।
- मतदान अधिकारी सचेत रहें, गांव वालों से ज्यादा बातचीत नहीं करें और न ही चुनाव सामग्री को हाथ लगाने दें।
- वोटर लिस्ट नहीं दिखाएं तथा बीएलओ के पास होने वाली मतदाता सूची ही देखने को कहें।
- पीठासीन अधिकारी समय के साथ तेजी से काम निपटाएं और मतदान के बाद जल्द से जल्द अपने दल को लेकर मतदान सामग्री केंद्र पहुंचकर सामग्री जमा करें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned