scriptWard -1: Most tourists come here but backward in developmet | वार्ड क्रमांक-1 : महाकाल के बाद सर्वाधिक पर्यटक यहां आते लेकिन विकास में पिछड़ा | Patrika News

वार्ड क्रमांक-1 : महाकाल के बाद सर्वाधिक पर्यटक यहां आते लेकिन विकास में पिछड़ा

प्रमुख मंदिर होने के बावजूद पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था नहीं, गरीबों को पट्टे और आवास योजना में लाभ का इंतजार

उज्जैन

Published: September 12, 2022 12:35:15 pm

वार्ड क्रमांक-1
वार्ड का नाम-भैरवगढ़
आबादी- 10 हजार से अधिक
मतदाता- 7771
प्रमुख क्षेत्र- भैरवगढ़, अब्बूखाना, कोलूखेड़ी,गणेशनगर, आनंदनगर, संपतनगर, उन्हैल चौराहा, गिट्टी खदान, श्रीरामनगर, पारस नगर, मोजमखेड़ी।
यहां की विशेषता- धार्मिक व पर्यटन स्थल और भैरवगढ़ प्रींट।
उज्जैन. दो साल से शहर नगर सरकार विहिन था। नगर निगम चुनाव ने वार्डों को उनका जनप्रतिनिधि दिया वहीं मतदाताओं को भी पुरानी समस्याओं से निजाद और नई सुविधाएं मिलने की उम्मीद जगी है। दावे-वादों के साथ घर-घर जनसंपर्क के बाद जीतकर आए पार्षद भी वर्तमान जरूरत और भविष्य की चुनौतियों के दृष्टिगत वार्ड का विकास करने को उत्साहित है। नगर सरकार बने एक महीने से अधिक समय हो चुका है। वार्डवासी और पार्षद आगामी वर्षों में अपना वार्ड कैसा देखना चाहते हैं, यह जानने के लिए पत्रिका टीम ने वार्डों में पहुंचने की पहल की है। जनता व जनप्रतिनिधि दोनो वार्ड विकास की बात पत्रिका के साथ साझा कर रहे हैं। शुरुआत वार्ड क्रमांक-१ से की गई है।

Ward -1: Most tourists come here but backward in developmet
प्रमुख मंदिर होने के बावजूद पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था नहीं, गरीबों को पट्टे और आवास योजना में लाभ का इंतजार

शहर के आखिरी छोर पर बसा वार्ड क्रमांक-१ धार्मिक पर्यटन और भैरवगढ़ प्रिंट से विशेष पहचान रखता है। विश्व प्रसिद्ध प्रमुख मंदिर सिद्धवट और काल भैरव यहां स्थित हैं। इसके कारण महाकाल मंदिर के बाद सर्वाधिक पर्यटक और श्रद्धालु इस वार्ड में आते हैं। वार्ड की जितनी आबादी है, औसत लगभग उतने ही बाहरी लोगों की रोज आवाजाही होती है। सिंहस्थ क्षेत्र का बड़ा भाग भी इसी वार्ड में शामिल है। यहां पर्यटकों को आकर्षित करने की अपार क्षमता है, बावजूद वार्ड-१ आज भी पीछड़ा हुआ ही है। न वार्डवासियों को पर्याप्त आधारभूत सुविधाएं मिल रही और नहीं पर्यटन विकास की दृष्टि से अपेक्षित व्यवस्थाएं हैं। शहरी-ग्रामिण परिवेश के मिक्चर इस वार्ड के विकास की योजना को उस नई दृष्टि से तैयार करने की जरूरत हैं जिसमें क्षेत्रवासियों की आवश्यकता के साथ बढ़ते पर्यटकों की जरूरतें शामिल हों।

मंदिर के बाहर वाहनों का जमावड़ा
सिद्धवट और कालभैरव मंदिर क्षेत्र में वाहन पार्किंग की पर्याप्त व्यस्था नहीं है। मंदिरों के बाहर ही वाहनों का बेतरतीब जमावड़ा रहता है और जाम की स्थिति बनती है। क्षेत्रवासी व जनप्रतिनिधि धर्मशाला व जेल प्रशासन की रिक्त भूमि को लीज पर पार्किंग स्थल विकसित करने का सुझाव दे रहे हैं।

समस्या और कमी, जिन्हें दूर करने की जरूरत
- बारिश के पानी की ठीक से निकासी नहीं होने से गंदगी।
- वार्ड में कई जगह नालियां खराब हो चुकी हैं।
- अवैध कॉलोनियां भविष्य में नुकसानदायक होंगी।
- अब्बूखाना, पारसनगर, श्रीराम नगर, गिट्टी खदान क्षेत्र में कई परिवारों शासकीय पट्टी की समस्या। आवास योजना से वंचित है।
- पर्यटन की दृष्टि से शासकीय विश्रामगृह, लॉज आदि की कमी।
- भैरवगढ़ प्रिंट को बढ़ावा देने व्यवस्थित शासकीय बाजार और विकसित हो सकता है।
- मंदिरों में प्रचलित निर्माण कार्य की धीमी चाल।

बोले वार्डवासी

पार्किंग स्थल बढ़ाए जाएं
प्रमुख धार्मिक स्थल होने से यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु और पर्यटक आते हैं। आवश्यकता की तुलना में वाहन पार्किंग स्थलों की क्षमता पर्याप्त नहीं है। इससे क्षेत्र में यातायात व्यवस्था प्रभावित रहती है। पार्किंग व्यवस्था सुधार की जरूरत है।
- अतुल सक्सेना, क्षेत्रवासी

नालियों का सही निर्माण हो

सिद्धवट मंदिर व आसपास नालियों का सही निर्माण नहीं हुआ है। इससे जलनिकासी ठीक से नहीं हो पाती है। पानी भराव के दौरान बाहली लोग दुर्घटना का शिकार भी होते हैं। नालियों में सुधार किया जाना चाहिए।
- गंगाराम बागड़ी, क्षेत्रीय व्यापारी

पानी निकासी नहीं होने से कीचड़
पानी निकासी नहीं होने से जलभराव की स्थिति रहती है। इससे कीचड़ भी फैलता है। मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को समस्या का सामना करना पड़ता है।
- शंकरसिंह, व्यापारी

मेरा संकल्प, मेरा दृष्टिकोण
वार्ड में बड़ी संख्या में ऐसे गरीब परिवार हैं जिन्हें शासकीय पट्टे की समस्या है। इन परिवारों को आवास योजना का लाभ भी नहीं मिल रहा है। पहली प्राथमिकता ऐसे परिवारों को योजना का लाभ दिलाने की रहेगी। वार्ड में पर्यटन विकास की काफी संभावना है। इसके लिए पार्किंग स्थल, सस्ते दाम पर विश्राम स्थल जैसी सुविधाएं विकसित करने का प्रयास किया जाएगा।
- निकिता मालवीय, पार्षद वार्ड-1

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Swachh Survekshan 2022: लगातार छठी बार देश का सबसे साफ शहर बना इंदौर, सूरत दूसरे तो मुंबई तीसरे स्थान परअब 2.5 रुपये/किलोमीटर से ज्यादा दीजिए सिर्फ रोड का टोल! नए रेट लागूकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबला41 साल के शख्स को 142 साल की जेल, केरल की अदालत ने इस अपराध में सुनाई यह सजाBihar News: बिहार में और सख्त होगी शराबबंदी, पहली बार शराब पीते पकड़े गए तो घर पर चस्पा होंगे पोस्टर, दूसरी और तीसरी बार में मिलेगी ये सजास्वच्छता अभियान 2022 शुरू, 100 लाख किलो प्लास्टिक जमा करने का लक्ष्यसैनिटरी पैड के लिए IAS से भिड़ने वाली बिहार की लड़की को मुफ्त मिलेगा पैड, पढ़ाई का खर्च भी शून्यएयरपोर्ट पर 'राम' को देख भावुक हो गई बुजुर्ग महिला, छूने लगी अरुण गोविल के पैर, आस्था देख छलके आंसू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.