Weather Update : इस बार काफी सख्त होंगे गर्मी के तेवर, मार्च में ही 40 डिग्री पहुंच चुका है तापमान

आमतौर पर मार्च के महीने में तापमान 40 डिग्री तक नहीं पहुंचता, लेकिन इस बार 29 मार्च को तापमान ने जिले में 40 डिग्री सेल्सियस को छू लिया।

By: Faiz

Updated: 01 Apr 2021, 06:20 PM IST

उज्जैन/ मध्य प्रदेश में इस साल गर्मी के तेवर मार्च के महीने से ही तल्ख हो चुके हैं। आमतौर पर मार्च के महीने में तापमान 40 डिग्री तक नहीं पहुंचता, लेकिन इस बार 29 मार्च को तापमान ने जिले में 40 डिग्री सेल्सियस को छू लिया। वहीं, मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि, इस बार गर्मी के तेवर प्रदेश के साथ साथ जिले में भी काफी सख्त होंगे।

 

पढ़ें ये खास खबर- अब शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा टोटल लॉकडाउन, रंगपंचमी के लिये भी बड़ा फैसला


इस साल और गुजरा साल

जीवाजी वेधशाला के मुताबिक, 28 मार्च को जिले का तापमान 39.5 डिग्री सेल्सियस, 29 मार्च को 40 डिग्री सेल्सियस, 30 मार्च को 39 डिग्री सेल्सियस और 31 मार्च को 38.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं, पिछली साल इन्हीं तारीखों पर गौर करें, तो अधिकतम तापमान क्रमशः 28.5, 35, 37 और 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था।

 

पढ़ें ये खास खबर- जरुरी खबर : एक अप्रैल से बदल गए ITR के कई नियम, जानिए बदलाव

अप्रैल के पहले सप्ताह का औसत तापमान- अनुमान

मोसम विभाग के मुताबिक, अप्रैल माह में हवा का दबाव कम हो जाने के चलते तापमान में और भी बढोतरी होगी। शुरुआती सप्ताह में अधिकतम तापमान 40 डिग्री और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री के आसपास ही बना रहेगा। विभाग का अनुमान है कि, इस बार मई तक का औसत अधिकतम तापमान सामान्य से 1 डिग्री अधिक रह सकता है।

 

पढ़ें ये खास खबर- शादी के बाद दूसरी लड़की से प्यार में नहीं हो सका सफल, तो उठाया खोफनाक कदम, मौत


दो सालों से लगातार दर्ज हो रही औसत से अधिक बारिश

वहीं, अगर बारिश की बात करें, तो पिछले दो सालों से लगातार जिले में औसत से अधिक बारिश दर्ज की जा रही है। खास बात ये भी है कि, इन दोनों सालों में अक्टूबर माह तक लगातार बारिश दर्ज की गई। जबकि, आमतौर पर सितंबर के दूसरे पखवाड़े तक बारिश का दौर खत्म होने लगता है। उज्जैन में औसत 902 मिलीमीटर बारिश दर्ज होती है। हालांकि, अगर साल 2019 की बात करें, तो उस साल 1297 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी, जबकि साल 2020 में 1127 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई थी। ये जमीन के वॉटर लेवल के लिये भी काफी लाभकारी साबित हुआ है।

 

LOCKDOWN : अब लगेगा 2 दिन का लॉकडाउन - video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned