जब पूर्व विधायक और वर्तमान विधायक की कावड़ यात्रा हुई आमने-सामने

जब पूर्व विधायक और वर्तमान विधायक की कावड़ यात्रा हुई आमने-सामने
Ujjain,former legislator,face to face,nagda,kavad yatra,

Mukesh Malavat | Updated: 13 Aug 2019, 08:02:02 AM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

प्रशासन ने दोनों को अपने-अपने रूट के लिए रवाना किया

नागदा. शहर में सोमवार का दिन दो अलग-अलग कावड़ यात्राओं का गवाह बना। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी हिंद सांस्कृतिक मंच एवं जय महादेव भक्त मंडल की अगुवाई में यात्रा निकाली गई, लेकिन इस बार यात्रा में पिछले वर्षों की तुलना में भक्तों की संख्या कम रही। उसके बावजूद समय से यात्रा शुरू नहीं होने के कारण दोनों कावड़ यात्रा आमने-सामने हो गई। हालांकि प्रशासन ने मोर्चा संभालते हुए दोनों को अपने-अपने रूट के लिए रवाना किया।
बता दें कि, हिंद सांस्कृतिक मंच की कावड़ यात्रा का नेतृत्व पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत तो जय महादेव भक्त मंडल द्वारा निकाली जाने वाली यात्रा का आयोजन कांग्रेस विधायक किया जाता है। यह यात्रा दोनों नेताओं के साथ भाजपा एवं कांग्रेस के लिए मात्र धार्मिक यात्रा नहीं। बल्कि इसे दोनों नेताओं के बीच शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जाता हैं। यही कारण है कि यात्रा में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटाने के लिए दोनों नेता एवं इनके कार्यकर्ता अपना पूरा जोर लगा देते है। हालांकि पिछले कुछ वर्षों की तुलना में इस वर्ष दोनों यात्राओं में श्रद्धालुओं की भीड़ में कमी देखी गई। दोनों आयोजकों की ओर से अंतिम समय तक भीड़ जुटाने का प्रयास किया गया। इसके चलते विधायक गुर्जर के नेतृत्व में निकलने वाली कावड़ यात्रा करीब तीन घंटे की देरी से प्रारंभ हो सकी, जबकि शेखावत की कावड़ यात्रा सुबह 10.30 बजे की बजाए 11 बजे शुरू हुई। देरी से प्रारंभ होने के कारण दोनो यात्राएं जवाहर मार्ग पर आमने-सामने हो गईं। हालांकि पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों ने दोनों ओर के श्रद्धालुओं के बीच रस्सी की लक्ष्मण रेखा खींचकर यात्रा को बिना विघ्न के आगे बढ़ाने में सफल रहे। शेखावत के नेतृत्व में निकली यात्रा में करीब पांच हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं के शामिल होने का अनुमान है, जबकि गुर्जर की अगुवाई में निकली यात्रा में एक से डेढ़ हजार श्रद्धालु सम्मलित हुए।
पूर्व विधायक शेखावत के नेतृत्व में मुक्तेश्वर के आंगन से उज्जैन महाकाल के लिए रवाना हुई कावड़ यात्रियों ने सोमवार देर शाम उन्हेल पहुंचकर विश्राम किया। मंगलवार को सभी महाकाल का जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना करेंगे। नगर के प्रमुख मार्ग से निकले कावडिय़ों का कई सामाजिक संगठनों ने जगह-जगह स्वागत किया।
रवाना होने के पूर्व किया पौधरोपण
मुक्तेश्वर के आंगन से कावड़ रवाना होने के पूर्व केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत के साथ शिवभक्तों ने पौधरोपण किया। उसके बाद उज्जैन के लिए कावडिय़े रवाना हुए। इसी बीच रास्ते में अनंत श्री पौधरोपण के सदस्यों ने भी पौधरोपण किया। सांसद अनिल फिरोजिया, नपाध्यक्ष अशोक मालवीय, मंडल अध्यक्ष राजेश धाकड़, रामसिंह शेखावत, सज्जनसिंह शेखावत, प्रदीप राठी, महेश व्यास, विजय पोरवाल, दिनेश अग्रवाल, संदीप व्यास, विजय पटेल, इंद्रकुंवर शेखावत, सीमा ठाकुर, अर्चना वर्मा, उषा गुर्जर, विनीता शर्मा आदि मौजूद थे।
खाचरौद भ्रमण कर पहुंचे भीकमपुर
विधायक गुर्जर के नेतृत्व में निकले कावड़ यात्रियों ने नगर के बाद खाचरौद में भ्रमण किया। उसके बाद कावडिय़े भीकमपुर पहुंचे। जहां पर वृद्ध महाकालेश्वर महादेव का जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की। उसके बाद भंडारे में प्रसादी का लाभ लिया। इस मौके पर बड़ी संख्या में भक्त शामिल थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned