कांग्रेस प्रदेश प्रभारी सपकाल ने अलग-अलग गुटों से बंद कमरे में क्यों की चर्चा

जल्द हो सकती है शहर व जिला अध्यक्षों के नामों की घोषणा
रखे अलग-अलग नाम

By: Lalit Saxena

Published: 16 May 2018, 09:00 AM IST

उज्जैन. विधानसभा चुनावी साल में कांग्रेस ने संगठनात्मक ढांचे में बदलाव की तैयारी तेज कर दी है। मंगलवार को अभा कांग्रेस कमेटी सचिव व प्रदेश प्रभारी हर्षवधन सपकाल ने शहर व जिला अध्यक्ष के नामों को लकर बंद कमरे में जिलेभर के नेता-कार्यकर्ताओं से रायशुमारी की। इस दौरान उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि वह विधानसभा टिकट को लेकर कोई चर्चा नहीं करेंगे।
कांग्रेस ने हाल में प्रदेश अध्यक्ष की कमान कमलनाथ को सौंपकर चुनावी साल में बड़ा बदलाव किया है। इसके साथ ही अध्यक्षों के नामों की घोषणा भी शुरू हो गई है। अब जल्द ही शहर व जिला अध्यक्षों के नाम तय होने की संभावना है। इसी कड़ी में शाम करीब ५.३० बजे सपकाल क्षीरसागर पार्टी कार्यालय पहुंचे। उनसे मिलने के लए बड़ी संख्या में नेता-कार्यकर्ता मौजूद थे। सपकाल ने अलग-अलग गुटों के नेताओं से बंद कमरे में चर्चा की और जाना कि जिले व शहर के लिए कौनसा नेता अध्यक्ष के रूप में बेहतर होगा। अलग-अलग गुटों में हुई चर्चा करीब दो घंटे चली जिसमें ३०० से अधिक नेता-कार्यकर्ताओं से रायशुमारी की गई।

शहर व जिला अध्यक्षों के चयन को लेकर पूर्व में ही पीसीसी को प्रस्ताव जा चुके हैं। इसके अलावा अन्य प्रभारी भी रायशुमारी कर चुके हैं। सपकाल को प्रदेश का प्रभार मिलने के बाद उन्होंने भी प्रक्रिया अनुसार रायशुमारी की। सूत्रों के अनुसार जिला अध्यक्ष के लिए अलग-अलग गुटों ने बडऩगर के महेश पटेल, तराना के दिनेश शर्मा , बहादुरसिंह पटेल, सुबोध स्वामी, उज्जैन से अजीतसिंह ठाकुर आदि के नाम रखे हैं। इसी तरह शहर के लिए योगेश शर्मा, विवेक यादव, चेतव यादव, महेश सोनी, आजम शेख आदि नाम रखे गए।

Congress
Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned