video : बोरी में बंद अधजली हालत में मिली थी लाश, निकाल रहे कॉल डिटेल...

फाइनेंस कंपनी कर्मचारी का था शव, मताना में मिला था अधजली हालत में

By: Lalit Saxena

Published: 04 Jan 2018, 12:17 PM IST

उज्जैन. मंगलवार दोपहर मतानाकलां में अधजली हालत में अज्ञात युवक का शव बोरे में मिला था, जिसकी मंगलवार देर रात शिनाख्त हो गई। युवक भैरवगढ़ का निवासी था और फाइनेंस कंपनी में काम करता था।

मंगलवार सुबह मताना कलां में पंचायत भवन और देशी शराब दुकान के बीच में बोरी में बंधे युवक का अधजला शव मिला था। मामले में नरवर थाना पुलिस ने बताया कि रात को युवक का छोटा भाई भैरवगढ़ थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाने गया था, जिसके आधार पर मृतक की पहचान धीरज (३२) पिता उदय सिंह राजपूत निवासी भैरवगढ़ के रूप में की गई। छोटे भाई महेंद्र ने उसकी शिनाख्त की। बुधवार को शव का पीएम कर परिजनों को सौंप दिया गया। धीरज लोति स्कूल रोड पर संचालित चार्वी फाइनेंस कंपनी में काम करता था। वह सोमवार सुबह ९ बजे घर से सिटी बस से ऑफिस के लिए निकला था, लेकिन रात को घर नहीं लौटा। छोटे भाई महेंद्र और अन्य ने उसे ढूंढने के प्रयास किए लेकिन वह कहीं नहीं मिला। मंगलवार रात करीब ११ बजे महेंद्र गुमशुदगी दर्ज करवाने भैरवगढ़ थाने पहुंचा। जहां हुलिए के आधार पर शव की शिनाख्त हो सकी। धीरज की शादी नहीं हुई थी। पिता मजदूरी करते हैं। पिता ने जानकारी दी कि वह सुबह ऑफिस के लिए निकलता था और रात को लौटता था। उसे क्षेत्र में भी कम लोग ही जानते थे। जिस आधार पर दुश्मनी में हत्या की कम आशंका है।

निकाल रहे कॉल डिटेल
नरवर टीआई बीएल चौधरी ने बताया कि धीरज कंपनी के लिए पर्चे बांटता था। उसका मोबाइल गायब है। कॉल डिटेल निकलवाई गई है। प्रेम संबंध के बारे में भी पता लगाया जा रहा है।

दुर्घटना में घायल ननि क्लर्क ने दम तोड़ा
उज्जैन. पिछले दिनों स्कूटी से नीमच जाते समय नगर निगम क्लर्क को नागदा रोड पर अज्ञात वाहन ने टक्कर मारकर घायल कर दिया था, जिसकी उपचार के दौरान बीती रात मृत्यु हो गई। माधव नगर पुलिस ने मामले में मर्ग कायम किया है। रोड़सिंह उर्फ राजेन्द्र (५२) पिता जस्सा निवासी मुखर्जी नगर देवास अपने स्कूटी वाहन से 23 दिसम्बर को नीमच जा रहा था। उसी दौरान नागदा रोड पर होटल के सामने अज्ञात वाहन ने रोड़सिंह को टक्कर मारकर घायल कर दिया। परिजनों ने बताया कि रोड़सिंह नगर निगम उज्जैन में क्लर्क था और देवास से उज्जैन अपडाउन करता था। उसका निजी अस्पताल में उपचार चल रहा था, जहां बीती रात उसने दम तोड़ दिया।

Show More
Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned