31 लाख 16 हजार 147 रुपए का अवार्ड पारित

जिला न्यायालय परिसर में लोक अदालत संपन्न

By: ayazuddin siddiqui

Published: 10 Mar 2019, 10:00 AM IST

उमरिया. जिला न्यायालय परिसर में जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अध्यक्षता में लोक अदालत का आयोजन जिला एवं सत्र न्यायाधीश पी के सिन्हां की अध्यक्षता में किया गया। इस अवसर पर प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं प्रभारी लोक अदालत सुरेंद्र कुमार, द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेश कुमार तिवारी, तृतीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश अशरफ अली, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मानवेंद्र पवार, द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग- 1 सुधांशु सिन्हां, तृतीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग- 1 लोकेंद्र सिंह, प्रथम व्यवहार न्यायाधीश लालता सिंह, द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग- 2 विकास कुमार शर्मा, द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग - 2 नजमा बेगम, पुष्पराज सिंह सहित अन्य अधिवक्ता गण उपस्थित रहे। नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारा मां सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण करके किया गया। इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश पी के सिन्हां ने कहा कि लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों का निराकरण होने से मध्यस्थता आती है । उन्होने कहा कि प्रकरणों की सुनवाई हेतु लोक अदालत एक अच्छा माध्यम है। इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारा लोक अदालत का निरीक्षण किया गया। लोक अदालत में 351 प्रकरणों का निपटारा आपसी सुलह समझौता से किया गया। जिसमें 294 प्रीलिटिगेशन प्रकरण जिसमें बीएसएनएल प्रकरण, नगर पालिका , विद्युत प्रकरण, न्यायालय में लबित प्रकरण 57 सुलह समझौता के माध्यम से निपटाए गए। मोटर यान दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा के 89 प्रकरण रखे गये जिसमें 36 प्रकरणों का निराकरण किया गया साथ ही 16 लाख 64 हजार रुपए का आवार्ड पारित किया गया। चैक बाउंस के मामले में 138 का प्रकरण में दो प्रकरण में राशि एक लाख 2 हजार रुपए मात्र आपराधिक प्रकरण में एक प्रकरण निपटाए गए। वैवाहिक प्रकरण , भरण पोषण के 18 प्रकरण में 14 हजार रुपए एवं अन्य प्रकरणों में जीरो प्रकरण का निराकरण किया गया। प्रीलिटिगेशन के विद्युत प्रकरणों में 50 प्रकरण निपटाए गए जिसमें एक लाख 34 हजार मात्र की वसूली की गई। इसमे कुल 380 व्यक्ति लाभान्वित हुए। नेशनल लोक अदालत में 31 लाख 16 हजार एक सौ 47 रुपए का आवार्ड पारित किया गया।
पाली में 26 प्रकरणों का हुआ निराकरण 92593 की हुई वसूली
इसी तरह बिरसिंहुपर पाली तहसील में नेशनल लोक अदालत का आयोजन पीठासीन अधिकारी विकास कुमार शर्मा की अध्यक्षता संपन्न हुई। लोक लोक अदालत में पीठासीन अधिकारी , विकास शर्मा , मुसाफिर राय, अजय शिवहरे, सीएमओ आभा त्रिपाठी , सुदामा विश्वकर्मा के द्वारा दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। लोक अदालत में न्यायालय की ओर से 374 राजनीनामा योग्य प्रकरण रखे गये थे, जिनमे ंसे तीन प्रकरणों का निराकरण आपसी राजीनामा के आधार पर किया गया साथ ही कुल प्रीलिटिगेशन 256 प्रकरणो में 26 प्रकरणों का निराकरण किया गया एवं 92593 राशि की वसूली की गई।
मारपीट के मामलें मे हुआ समझौता
नेशनल लोक अदालत के दौरान मारपीट के मामले में जिला न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी लोकेंद्र ंिसह ने दो पक्षकारो के मध्य समझौते से प्रकरणों का निराकरण किया। बताया जाता है कि आपसी विवाद के चलते दो पक्षकार मे मारपीट हुई, जिसमें महिला के दांत टूट गया था। 325 के मामले के अंतर्गत मुन्नी बाई के साथ मारपीट की गई। चंद्रशेखर लोनी, अनिता लोनी को लोंकेंद्र ंिसह जिला न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी ने मामले की सुनवाई करते हुए दोष मुक्त किया। इस अवसर पर अधिवक्ता तरूण पाण्डेय, उमेश राय उपस्थित रहे।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned