script TIGER ATTACK : महिला को जबड़े में दबाकर भागी बाघिन, काफी देर बाद मिला शव | Bandhavgarh tiger reserve area tigress attack woman and drags into forest by pressing her jaws | Patrika News

TIGER ATTACK : महिला को जबड़े में दबाकर भागी बाघिन, काफी देर बाद मिला शव

locationउमरियाPublished: Jan 27, 2024 08:33:03 pm

Submitted by:

Shailendra Sharma

- जंगल में लकड़ियां बीनने गई थीं दो महिलाएं
- अचानक बाघिन ने किया हमला
- एक महिला गंभीर घायल एक की मौत

umaria.jpg

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के पनपथा कोर एरिया के चंसुरा गांव से लगे जंगल में बाघिन ने दो महिलाओं पर हमला कर दिया है। हमले में एक महिला की मौत हो गई, जबकि दूसरी घायल है। गांव की ही दो महिलाएं जंगल में लकड़ी बीनने के लिए गई थीं। हमला करने के बाद बाघिन एक महिला को अपने जबड़े में दबाकर खींचकर जंगल में ले गई जिसकी बॉडी को काफी मशक्कत के बाद बरामद किया गया है। वहीं दूसरी महिला गंभीर रूप से घायल हुई है जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया गया है कि बाघिन का शावकों के साथ इलाके में कुछ दिनों से मूवमेंट बना हुआ है।

जबड़े में दबाकर खींच ले गई बाघिन
चंसुरा गांव की रहने वाली 50 साल की महिला भूरी कोल अन्य महिला के साथ जंगल में लकड़ी बीनने के लिए गई। महिलाएं लकड़ी बीन रही थीं तभी झाड़ियों में घात लगाकर बैठी बाघिन ने जोर से दहाड़ मारते हुए हमला कर दिया। बाघिन की दहाड़ सुनकर डर के कारण अन्य महिलाएं तो भाग गईं लेकिन भूरी कोल पर बाघिन ने हमला कर दिया। बाघिन ने भूरी कोल को अपने मजबूत जबड़ों में दबा लिया और जंगल में घसीटते हुए ले गई।

tiger_attack.jpg

बाघिन से भिड़ गए वनकर्मी
बाघिन के हमले की जानकारी लगते ही वनकर्मी व अन्य ग्रामीण जंगल में भूरी कोल को ढूंढने के लिए पहुंचे। जैसे ही वो घटनास्थल के पास पहुंचे तो बाघिन ने एक और महिला पर पीछे से हमला कर दिया। इस दौरान बाघिन सामने खड़ी थी जिससे महिला की जान को खतरा था। मौके पर मौजूद वनकर्मी अपनी जान की परवाह किए बगैर महिला की जान बचाने के लिए गुस्साई बाघिन से भिड़ गए और सूझबूझ से काम लेते हुए हाथ में रखी टांगी की धार से बाघिन की ओर इशारा किया। बाघिन ने दहाड़ मारी तो वनकर्मी व लोगों ने शोर मचाया जिसके कारण बाघिन वहां से भाग गई। वनकर्मियों ने सर्चिंग कर जंगल से भूरी कोल का शव भी बरामद कर लिया है।

tigeress_attack.jpg

मशीन की आवाज से शावकों के साथ मूवमेंट में खलल
बताया जा रहा है कि चंसुरा (इंदवार) से लगे जंगल में रेंजर द्वारा शनिवार की सुबह करीब 11 बजे के आस पास जेसीबी मसीन के माध्यम से सडक़ निर्माण कार्य कराया जा रहा था। कुछ दूरी पर बाघिन अपने शावकों के साथ मौजूद थी, जो मशीन की आवाज से डरी हुई थी। इसी दौरान जंगल में कुछ महिलाएं लकड़ी बीनने गईं हुई थी तभी झाड़ियों में छिपी बाघिन ने हमला कर दिया।

भटकते रहे परिजन
मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाजरत घायल महिला के इलाज के लिए परिजन परेशान होते रहे। परिजन का आरोप है कि वन विभाग के लोगों ने इलाज के लिए अस्पताल तो पहुंचा दिया लेकिन भूखे प्यासे रखा है और दवाइयां भी नहीं दिलाई हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो