बड़ा कठिन है शहडोल से उमरिया के बीच का सफर

बड़ा कठिन है शहडोल से उमरिया के बीच का सफर

ayazuddin siddiqui | Publish: May, 08 2019 10:15:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

तीन वर्ष से ज्यादा समय से चल रहा एनएच 43 का निर्माण कार्य

उमरिया. तीन वर्ष से ज्यादा समय से निर्माणाधीन एन एच 43 का कार्य अब तक पूरा नहीं हो पाया। उमरिया से शहडोल के बीच निर्माणाधीन उक्त सड़क का अब लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। मंथर गति से चल रहे निर्माण कार्य की वजह से जहां लोगों को आवागवन में परेशानी हो रही है। वहीं जगह-जगह सड़क खोदने की वजह से आए दिन हादसे व जाम की स्थिति निर्मित हो रही है। इन सब समस्याओं से बेपरवाह ठेकेदार द्वारा निर्माण कार्य में किसी भी प्रकार की गति नहीं लाई जा रही है। इसे लेकर विभागीय अमले ने भी चुप्पी साध रखी है। जिसके चलते आम नागरिकों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व में तो किसी प्रकार से इस मार्ग से सफर किया जा सकता था लेकिन इन दिनो यहां से गुजरना किसी जंग लडऩे से कम नहीं है।
बड़ा कठिन है 65 किमी का सफर
उमरिया से शहडोल के बीच लगभग 65 किलोमीटर का सफर बड़ा ही कठिन है। चार पहिया से तो एक हद तक इस मार्ग में चला जा सकता है लेकिन दो पहिया वाहन चालकों के लिए यह रास्ता इन दिनो बहुत ही कठिन साबित हो रहा है। इसके अलावा इस मार्ग से होकर गुजरने वाली बसों में यात्रा करने वालो के लिए तो और भी आफत है। शहडोल से उमरिया के बीच का सफर जहां ढ़ाई से तीन घंटे में पूरा होता था वहीं अब चार घंटे से ज्यादा का समय लगता है। इसके अलावा यात्रियों को जिन परेशानियों का सामना करना पड़ता है वह अलग है। यात्रियों व आम नागरिकों की परेशानियों से ठेकेदार व विभागीय अमले को कोई सरोकार नहीं रहा है। ठेकेदार द्वारा अपनी मर्जी व सुविधा के अनुसार कार्य कराया जा रहा है।
खोद दी गई सड़क
निर्माण कार्य भले ही बड़ी धीमी गति से चल रहा हो लेकिन पुरानी सड़क को खोदने में किसी भी प्रकार की लेट-लतीफी नहीं की जा रही है। शहडोल से उमरिया के बीच कई जगह सड़क खोदकर उसमें मुरुम की जगह मिट्टी डाल दी गई है जिसकी वजह से इससे गुजरने वाले वाहन क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। इसके अलावा थोडा सा भी पानी पडऩे की स्थिति में इस मार्ग में जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है। जिसके चलते लोगों को घंटो मशक्कत करनी पड़ती है।
धूल के गुबार से बेहाल
सड़क खोदने के बाद बिछाई गई मिट्टी से होकर गुजरने वाले भारी भरकम वाहनों की वजह से उडऩे वाली धूल के गुबार ने लोगों को अच्छा खासा परेशान कर रखा है। सबसे ज्यादा परेशानी का सामना उन लोगों को करना पड़ता है जिनका इस मार्ग के किनारे घर बना हुआ है। उडऩे वाली डस्ट सीधे घर में प्रवेश करती है। जिसकी वजह से लोगों को घर में रहना दूभर हो रहा है। इसके अलावा धूल के गुबार व सड़क खुदी होने की वजह से आए दिन हादसे भी हो रहे हैं। जिसे लेकर कोई ठोस इंतजामात नहीं किए गए। जिससे लोग परेशान हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned