उचित मूल्य की दुकानों में आने वाले अनाज की कालाबाजारी

उचित मूल्य की दुकानों में आने वाले अनाज की कालाबाजारी

ayazuddin siddiqui | Publish: Apr, 04 2019 09:40:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

अधिकारियों ने साध रखी है चुप्पी

उमरिया/घुनघुटी. जिले में उचित मूल्य की दुकानो में गरीबो को बंटने वाले खाद्यान्न की कालाबाजारी इन दिनों जोरो से हो रही है। जिसकी जानकारी अधिकारियों को भी है इसके बाद भी उन्होने चुप्पी साध रखी है। परिवहन कर्ता को लाभ पहुचाने के लिए अधिकारियों द्वारा तरह तरह के बयान दिये जा रहे है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। जनपद पंचायत बिरसिंहपुर पाली के ग्राम आमगार व हथपुरा पंचायतों के उचित मूल्य दुकानों में प्रशासन की नजर से बच कर खुलेआम उचित मूल्य दुकानों से राशन ब्लैक किया जाता है। राज्य शासन ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली में कसावट लाने के लिए उचित मूल्य दुकानों के निरंतर निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण के निर्देश जारी किए हैं। लेकिन यहां जिले में कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा। ग्रामीणों का कहना है कि कोटेदार मनमानी रेट से राशन दे रहे हैं और यहां अभी शक्कर आई तो वह मनमाने रेट पर जाति विशेष को दी जा रही है। जो किसान चार किलोमीटर दूर से आता है वह खाली लौट जाता है वहीं जहां लोग पेड़ के नीचे बैठ कर राशन प्राप्त कर पा रहे हैं।ं कोटेदारों का मनमानी रेट चल रहा हैं। इतना ही नहीं उचित मूल्य दुकान में गाड़ी खाली तो होती है उसके बाद कोटेदार अपनी कार में रख कर बेचने जाता है ऐसे में ग्रामीण राशन के लिए परेशान होते है। आमगार सरपंच देवचंद सिंह का कहना है कि यहां सही ढंग से राशन नहीं दिया जाता। ग्रामीण आए दिन परेशानी का सामना करते हैं। ऐसा ही एक मामला और प्रकाश मे आया है । मार्च माह में उचित मूल्य दुकानों में चना, पहुंचाना था। जिसमेें बहुत सी दुकानों में चना नही पहुंच पाया। चना न पहुंच पाने के कारण उपभोक्ताओ को उसका वितरण भी नही किया गया। इस विषय पर आला अधिकारी परिवहनकर्ता का बचाव करते हुए कह रहे है कि ऊपर से ही चना की मात्रा कम प्राप्त हुई थी, जिसके चलते दुकानों में चना नही पहुच पाया।
इनका कहना है
आप जो जानकारी मुझे दे रहे हैं वहीं जानकारी पुलिस को दे दें। पुलिस इनके खिलाफ एफआइआर करेगी।
आर के सोनी, प्रबंधक, सिविल सप्लाई कार्पोरेशन उमरिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned