लापरवाही से हुई नवजात की मौत

जिला चिकित्सालय का मामला

By: Shahdol online

Published: 04 Jan 2018, 05:05 PM IST

उमरिया. ग्राम चिल्हारी में हुये जज्जा-बच्चा की मौत का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि दूसरा मामला मंगलवार की रात को जिला चिकित्सालय में घटित हो गया। इसकी शिकायत न्यू फजिलगंज निवासी अंकुश ताम्रकार ने कलेक्टर से की है। उसने बताया कि वह अपनी पत्नी को जिला चिकित्सालय में इलाज के लिये लाया। जहां पर उसने डॉ. बीके प्रजापति से संपर्क किया, उन्होने उसे सिटी पैथालॉजी से जांच के लिये कहा। उक्त व्यक्ति द्वारा सिटी पैथालॉजी में जांच न कराने के कारण डॉक्टर द्वारा ऑपरेशन करने से मना कर दिया गया। इस पर जब मीडिया का हस्ताक्षेप हुआ तो दूसरे दिन बच्चे को मृत घोषित कर दिया गया। परिजनों का कहना है कि यदि समय रहते डॉक्टर द्वारा उक्त महिला का ऑपरेशन कर दिया जाता तो शायद नवजात की जान बच जाती और वह आज इस दिन में हंस खेल रहा होता पर ऐसा नहीं हो सका।
सूत्रों की माने तो अभी हाल ही में स्त्री रोग विशेषज्ञ पर पैसे लेने का आरोप लगा था। जिसकी जांच एसडीएम द्वारा की जा रही है। ऐसा कहा जाता है कि भले ही जिला चिकित्सालय में डॉक्टर सरकारी नौकरी कर रहे हो, लेकिन बिना पैसे के मरीजो का इलाज नहीं होता है। जहां एक ओर कहा जाता है कि डॉक्टर भगवान का दूसरा रुप माना गया है, पर ऐसी हरकतों से उसका चेहरा हैवान बनता जा रहा है। इस विषय पर मीडिया ने जब डॉक्टर से वास्तविक स्थिति को जानने की कोशिश की गयी तो उनका लगातार मोबाइल स्वीच ऑफ रहा।
इनका कहना है
मुझे इस बात की जानकारी हुई है, मंै अभी पूरी डिटेल ले रहा हूं इसके बाद क्या कर सकता हूं वह मैं बाद में बताऊंगा।
डॉ. उमेश नामदेव, सीएमएचओ, उमरिया
------------------------
छात्रों ने दिखाए चमत्कार
उमरिया. शासकीय माध्यमिक शाला तामन्नारा में विज्ञान क्लब के छात्रों ने जन चेतना कार्यक्रम के अंतर्गत लोगों को बताया कि झूठे बाबाओं द्वारा जो चमत्कार दिखाया जाता है वह वास्तव में हाथ की सफाई एवं विज्ञान की क्रियायें है। कार्यक्रम के दौरान उपसरपंच को क्लब नायक अभिनाश चौधरी ने प्रयोग कर दिखाया कि कैसे हवा में हाथ लहराकर राख की भस्म बनाई जा सकती है। दिव्या सिंह ने बताया कैसे हम पानी में आग लगा सकते हैं। आर्य भट्ट हाउस क्लब के सदस्यों ने बताया कि वास्तव में जो भी चमत्कार दिखाये जाते है। वह विज्ञान की क्रियायें है। बच्चों ने रुमाल में आग लगाकर दिखाया कि आग जलने के बाद भी रुमाल नहीं जली।

 

Shahdol online
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned