लॉकडाउन के 72 दिनों में 13 सौ 10 पीएम आवासों का निर्माण

गरीबों को मिला योजना का लाभ

By: ayazuddin siddiqui

Published: 12 Sep 2020, 07:30 AM IST

उमरिया. जीवन में हर व्यक्ति की एक आशियाने की चाहत होती है। अपनी इस चाहत को आर्थिक अभाव के कारण कई बार व्यक्ति जीवन भर मेहनत के बाद भी पूरा नही कर पाता है। प्रधानमंत्री आवास योजना गरीबों को स्वयं का आवास उपलब्ध कराने के लिए वरदान साबित हो रही है। कोरोना महामारी के कारण 23 मार्च को पूरे देश में लॉकडाउन की शुरूआत हुई। जो कुछ शर्तो के साथ 31 मई को समाप्त हुआ। लॉकडाउन के दौरान लोगो के रोजगार धंधे मजदूरी आदि बंद हो गई। इस दौरान उमरिया जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब परिवारों ने जिन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास स्वीकृत हुआ था , ने समय का उपयोग करते हुए तथा शासन द्वारा जारी कोरोना महामारी से बचाव के निर्देशों का पालन करते हुए अपने सपनों का आवास पूरा करनें में जुट गये। जिले में लॉकडाउन के दौरान 15 जून तक 1310 आवासों का निर्माण पूरा किया गया। जिसमें करकेली जनपद पंचायत में 628 आवास, मानपुर जनपद पंचायत में 580 आवास तथा पाली जनपद पंचायत में 102 आवास पूरे किए गए। लॉकडाउन के दौरान शासन द्वारा उमरिया जिले को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 6 हजार आवासों के निर्माण का कार्य अतिरिक्त लक्ष्य दिया। जिसमें जनपद पंचायत करकेली को 2614, जनपद पंचायत मानपुर को 1959 एवं जनपद पंचायत पाली को 1427 आवासो के निर्माण का लक्ष्य दिया गया। ये सभी आवास पूर्णता की ओर है।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned