बाघ और जंगली हाथियों के हमलों से दहशत में हैं दर्जनों गांव, फसलें हो रहीं बर्बाद, जा चुकी है जान

बाघ और हाथियों की दहशत में हैं उमरिया जिले के दर्जनों गांव।

By: Faiz

Published: 25 Oct 2020, 02:26 PM IST

उमरिया/ मध्य प्रदेश के उमरिया जिले के बांधवगढ़ में बफर जोन के करीब दर्जनों गांव में बाघ और जंगली हाथियों के हमले की दहशत में जूझ रहे हैं। हालात ये हैं कि, यहां ग्रामीण अपने घरों से बाहर निकलने की हिम्मत भी नहीं जुटा पा रहे हैं। जंगली हाथियों के आतंक से जूझ रहा बफर एरिया का जिले का महावन के अलावा सेहरा, पिपरिया, बिलाईकाप ऐसे दर्जनों गांव हैं, जंहा ग्रामीणों का सामना कभी जंगली हाथियों से हो रहा है, तो कभी बाघ की दस्तक उनकी नींद उड़ा रखी है। संदिग्ध इलाकों में कई किसानों की फसल पूरी तरह तबाह हो चुकी है, तो वहीं बाघ के हमले से कई लोग घायल हो चुके हैं, जबकि एक ग्रामीण की जान भी जा चुकी है।

 

पढ़ें ये खास खबर- उपचुनाव : चुनाव आयोग में लगा शिकायतों का अंबार, जानिए किस पार्टी के नाम दर्ज हुईं अब तक सबसे ज्यादा कंप्लेंट


वन विभाग नहीं कर रहा उचित कार्रवाई

जिले के महावन गांव में बाघ और जंगली हाथियों का सबसे अधिक प्रकोप है। इस संबंध में स्थानीय निवासी खेलावन सिंह समेत अन्य ग्रामीणों का कहना है कि, गांव में हाथियों और बाघ के कारण दहशत का माहौल है।एक अन्य स्थानीय निवासी लाखन सिंह का कहना है कि, कई बार इस संबंध में वन विभाग को अवगत कराया जा चुका है, लेकिन अब तक इतना जानी और माली नुकसान होने के बावजूद विभाग की ओर से समस्या के निराकरण के लिए कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। नतीजा ये है कि, कई किसानों की फसलों का नुकसान तो लगातार हो ही रहा है, साथ ही ग्रामीणों को जान गवानी पड़ रही है।

 

पढ़ें ये खास खबर- महबूबा के बयान पर गर्माई प्रदेश की सियासत, भाजपा नेता बोले- क्या तिरंगे का अपमान करने वाला देश में रह पाएगा


हाथी के हमले से गई ग्रामीण की जान

जंगली माहौल में रचे बसे वनवासियों में ये दहशत सेहरा गांव की घटना से भी है जंहा पिछले महीने खेत की रखवाली करने गए किसान को जंगली हाथियों के एक दल ने पैरों तले कुचलकर मार डाला था। हाल ही में कोर एरिया की टी-42 नामक बाघिन भी अपने चार शावकों के साथ महावन गांव की सीमा पर डेरा डाले हुए है। इससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल था। वहीं, दूसरी ओर बांधवगढ़ निरीक्षण को पहुंचे पीसीसीएफ आलोक कुमार के मुताबिक, घटनाओं की जानकारी उन्हें मिली है। ग्रामीणों की हर संभव मदद करने का प्रयास किया जा रहा है। बहरहाल बांधवगढ़ में यंहा के हिंसक वन्यजीवों के साथ इलाके में तीन साल से सक्रिय उड़ीसा से आया। हाथियों का बड़ा झुंड पार्क से लगे गांव ग्रामीण और किसानो के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहे हैं।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned