scriptEmployment assistants and Panchayat secretaries raised their voices to | सरकार से अपनी मांगों को मनवाने रोजगार सहायक और पंचायत सचिवों ने बुलंद की आवाज | Patrika News

सरकार से अपनी मांगों को मनवाने रोजगार सहायक और पंचायत सचिवों ने बुलंद की आवाज

तीन सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

उमरिया

Published: May 07, 2022 05:35:37 pm

उमरिया. रोजगार सहायक सचिव पंचायत कर्मचारी संघ द्वारा तीन सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन जिला पंचायत सीईओ इला तिवारी को सौंपा है। ज्ञापन जिला प्रभारी अध्यक्ष रोजगार सहायक संघ के प्रेमलाल प्रजापति के नेतृत्व में सौंपा गया।
ज्ञापन में बताया गया प्रदेश अध्यक्ष रोशन सिंह परमार के निर्देशन पर मध्यप्रदेश में ग्राम रोजगार सहायक पिछले 12 वर्षों से केंद्र द्वारा एवं राज्य शासन के करीब 52 योजनाओं का क्रियान्वयन 23000 ग्राम पंचायतों में जरूरतमंद तक ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ निर्वाहन कर रहे हैं। महंगाई के इस दौर में अल्प मानदेय 9000 में अधिक कार्य के दबाव में कारण आर्थिक शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताडि़त है जिसके कारण कोरोना काल से आज तक 25 से ज्यादा ग्राम रोजगार सहायक, सचिव काल के मुख में समा गए हैं। इन सारी समस्याओं को लेकर तीन सूत्रीय मांगों का मुख्यमंत्री से निराकरण किए जाने को लेकर ज्ञापन सौंपा है जिसमें ग्राम रोजगार सहायकों की सेवा समाप्ति के बदले निलंबन किया जाने, निलंबन अवधि में अन्य कर्मचारी की भर्ती नियमानुसार निर्माण भत्ता दिया जाने, ग्राम रोजगार सहायक आकरिमक मृत्यु पर आर्थिक सहायक निश्चित धनराशि उनके परिवार को दी जाने, पंचायत सचिव की भर्ती में समानता के सिद्धांत अनुसार ग्राम रोजगार सहायक को प्राथमिकता से लिए जाने की मांग की गई है। वहीं पर ग्राम रोजगार सहायक संपूर्ण ऊर्जा से कर्तव्य निर्वहन कर सके ग्राम रोजगार सहायक नीति बनाई जाए। जनपद में स्वच्छता से स्थानांतरण किया जावे ग्राम रोजगार सहायकों पूर्णरूपेण निष्पादित कराए जाएं मांग आधारित योजना आधारित योजना बनाकर बनाकर केवल ग्राम रोजगार सहायकों को टारगेट कर योजना दोषी मानकर सेवा समाप्त की जा रही है। ग्राम रोजगार सहायकों के वेतन वृद्धि वर्ष 2017 5 साल से नहीं की गई जब तक वेतन वृद्धि नहीं की जाती तब तक मनरेगा के अलावा दूसरी योजना का नहीं किया जाएगा। समान कार्य समान वेतन वेतनमान 30000 इन सारी मांगों को लेकर ज्ञापन दिया गया है। इस मौके पर रवि शंकर सिंह, आशीष अग्रवाल, खेम करण सिंह, मिथिलेश, करकेली ब्लॉक के अध्यक्ष राघवेंद्र प्रसाद सिंह , मानपुर ब्लॉक अध्यक्ष मनोज त्रिपाठी, पाली ब्लॉक अध्यक्ष गणेश द्विवेदी सहित सहायक सचिव उपस्थित रहे।

Employment assistants and Panchayat secretaries raised their voices to get their demands from the government
Employment assistants and Panchayat secretaries raised their voices to get their demands from the government

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.