scriptFundamental rights and duties are essential in building a civilized so | सभ्य समाज के निर्माण में मौलिक अधिकारों एवं कर्तव्यों का पालन जरूरी | Patrika News

सभ्य समाज के निर्माण में मौलिक अधिकारों एवं कर्तव्यों का पालन जरूरी

आदर्श महाविद्यालय में नशा मुक्ति जागरूकता शिविर

उमरिया

Published: April 24, 2022 05:48:39 pm

उमरिया. शासकीय आदर्श महाविद्यालय उमरिया में 23 अप्रैल को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा) की जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उमरिया इकाई द्वारा नि:शुल्क नशा मुक्ति जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विधिक सहायता अधिकारी बीडी दीक्षित एवं महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एमएन स्वामी और प्राध्यापक डॉ. नियाज़ अहमद अन्सारी, डॉ. सत्या सोनी, डॉ. परमेश्वर सिंह मरावी, डॉ. नवीन उपाध्याय, डॉ. अनुपम सिंह उपस्थित रहे। शिविर में प्राध्यापकों और विभिन्न कक्षाओं के छात्र-छात्राओं ने सक्रिय सहभागिता रही। कार्यक्रम का संचालन जिला प्राधिकरण के अविनाश पाण्डेय और महेश तिवारी ने किया। डॉ. सत्या सोनी डॉ. नवीन उपाध्याय, डॉ. अनुपम सिंह ने नशे के विभिन्न कारणों, इसके दुष्प्रभावों एवं मुक्ति के उपायों पर व्यापक रूप में चर्चा की। इसके साथ ही मुख्य वक्ता डॉ. अंसारी ने छात्र-छात्राओं को बताया गया कि मौलिक अधिकारों एवं कर्तव्यों के तहत नियम-कानूनों के पालन करने से ही सभ्य समाज का निर्माण होता है और इनका उल्लंघन करने वालों को उनको अपने बचाव का अवसर देने के उपरांत न्यायालयों द्वारा दोषियों को दण्दित किया जाता है। शिविर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यों और युवाओं को दी जाने वाली नि:शुल्क विधिक सहायता और आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करने की विधि भी बतलाकर 14 मई को आयोजित होने वाली लोक अदालत का अधिकतम लाभ उठाने का भी प्रचार-प्रसार करने पर भी बल दिया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में डॉ. विजय डाबर, प्रो. बेबी धुर्वे, शिवकुमार हल्दकार, हरीश शुक्ला आदि का सहयोग रहा। नशामुक्ति जागरूकता शिविर में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उपस्थित लोगों को मौलिक अधिकारों व कर्तव्यों को और बारीकी के साथ समझाया गया। इसके साथ ही लोगों को नशा से दूर रहने की बात भी कही गई। शिविर में लोगों को बताया गया कि नशा इंसानी जिंदगी व समाज के लिए कितना खतरनाक है। इसके दुष्परिणामों को बताते हुए लोगों को समझाइश दी गई कि अगर सभ्य समाज का निर्माण करना है तो नशा जैसी बुराइयों से दूर रहना होगा, तभी सभ्य समाज बन सकेगा।

Fundamental rights and duties are essential in building a civilized society
Fundamental rights and duties are essential in building a civilized society

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने 'जिंदा लाश' वाले बयान पर दी सफाई, बोले-उनका जमीर मर गया है, तो उसके बाद क्या बचता है?Presidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.