थाना के बगल में वर्षों से बिक रहा था गांजा

थाना के बगल में वर्षों से बिक रहा था गांजा

ayazuddin siddiqui | Publish: May, 14 2019 10:10:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

पुलिस को नहीं थी खबर

उमरिया. थाना से चन्द कदम दूरी पर वर्षों से पूरा परिवार गांजा का कारोबार कर रहा था और पुलिस को इसकी खबर नहीं थी। बीती रात पुलिस अधीक्षक की स्पेशल टीम ने दबिश देकर गांजा के इस कारोबार का भण्डाफोड़ करते हुए मामले में पांच लोगों को आरोपी बनाया है जिसमें घर का नौकर भी शामिल है। दबिश के दौरान पुलिस ने महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है वहीं मुख्य आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। मामला नौरोजाबाद थाना क्षेत्र का है। पुलिस प्रकरण दर्ज कर आरोपी की तलाश में कर रही है। इस संबंध में एसडीओपी अरविंद तिवारी ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि ओमप्रकाश गुप्ता निवासी बाजार पुरा अपनी पत्नी उमा गुप्ता एवं लडको तथा नौकर के साथ मिलकर अवैध मादक पदार्थ गांजा कर रहा है। सूचना पर पुलिस ने ओम प्रकाश गुप्ता के दबिश दी। इस दौरान ओम प्रकाश गुप्ता पुलिस की घेराबंदी को देखते हुए अंधेरे का फायदा उठाते हुए मौके से फरार हो गया। घर पर उसकी पत्नी उमा गुप्ता लडका प्रिंस गुप्ता, अंशु गुप्ता व नौकर मन्नू उर्फ मनीराम यादव निवासी छांदा उपस्थित मिले। जहां पुलिस ने घर की तलाशी ली तो कमरे के अंदर एक प्लास्टिक का पुराना इस्तामाली झोला मिला जिसके अंदर मादक पदार्थ गांजा पाया गया। झोले के अंदर चार प्लास्टिक के पालीथीन मे गांजा एक हरे रंग, एक मटमैले रंग, एक खाकी रंग में अलग अलग रखा गया था। इसके अलावा एक काले रंग की पालीथीन मे कागज से लिपटी हुई गांजा की 80 पुडिया बरामद की गई। पंचनामा तैयार कर गांजा का वजन कराया गया। जिस पर कुल गांजा पांच किलो 500 ग्राम कीमत 27 हजार 500 रूपये होना पाया गया। जिसे सील बंद कर जब्त कर लिया गया है।
पूरा परिवार था शामिल
गांजा के इस कारोबार में ओम प्रकाश गुप्ता का पूरा परिवार शामिल था। मामले में पुलिस ने आरोपी ओम प्रकाश गुप्ता, उमा पति ओमप्रकाश गुप्ता, प्रिंस गुप्ता, अंशू गुप्ता चारो निवासी वार्ड नंबर पांच नौरोजाबाद एवं मन्नू उर्फ मनीराम यादव पिता मोतीलाल यादव निवासी छांदाखुर्द के विरूद्ध धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। मामले में मुख्य आरोपी ओम प्रकाश गुप्ता के अलावा चार अन्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के दौरान प्रिंस गुप्ता के पेंट से एक जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। जिस पर पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध धारा 25 (1) बी (ए) आम्र्स एक्ट के तहत भी प्रकरण दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि इसी प्रकार का एक अन्य बेटा कृष्ण गुप्ता अभी हाल ही मेंं ऐसे ही एक मामले में आरोपी था, जो फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में है। फिलहाल पुलिस ने मामले के मुख्य आरोपी ओपी गुप्ता को फरार बताया है, जल्द ही उसके गिरफ्तारी की बात पुलिस कह रही है। वहीं पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी नौरोजाबाद को हटाते हुए अन्य थाना प्रभारी को नौरोजागाद थाना का प्रभार सौंपा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned