इन्होंने रखा धैर्य और संयम, कोराना वारियर्स ने जीत ली महामारी से जंग

जिले में अब तक 3430 मरीज स्वस्थ्य होकर घर पहुंचे

By: ayazuddin siddiqui

Published: 03 May 2021, 11:29 PM IST

उमरिया. जिले में कोरोना संक्रमण के मरीज पॉजिटिव होने के बाद भी धैर्य और संयम रखते हुए कोविड केयर सेंटर तथा होम आईसोलेशन में रहे तथा कभी भी अपने मन में पॉजिटिव होने का ख्याल नहीं लाया। जिसका परिणाम रहा कि जिले के 3430 मरीज आज दिनांक तक स्वस्थ्य होकर अपने घर पहुंच गये है। नौरोजाबाद के 5 नंम्बर कॉलोनी में निवासरत जयप्रकाश पटेल अपनी जिंदादिली के लिए जाने जाते है। समाजहित में कोई भी काम हो जयप्रकाश पटेल प्रथम पंक्ति में सदैव डटे हुए दिखाई देते है। वह कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए थे और होम आइसोलेट होने का निर्णय लिया पर गिरते आक्सीजन लेवल ने उनकी चिंताए बढ़ा दी और मन मे भी नकारात्मक विचारों ने घर बनाना चालू कर दिया। उन्होने तत्परता दिखाते हुए एसईसीएल नौरोजाबाद में बने आइसोलेशन सेंटर में भर्ती हो गए और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रतिभा पाठक की देखरेख में उनका स्वास्थ्य तीव्र गति से सुधार की ओर है। अब वह कोविड वार्ड में भर्ती अन्य मरीजों की हौसला आफजाई कर रहे है और उन्हें आभास करा रहे है कि कोरोना से भयभीत होने की नहीं बल्कि सकारात्मक विचारों के साथ लडऩे की जरूरत है। ठीक हुए मरीजों का कहना है कि पॉजिटिव चिन्हित होने के बाद हमें कोविड सेंटर ले जाया गया। जहां घर जैसे महौल में हमारी देख रेख की गई। समय समय पर चाय, नास्ता, भोजन, दवाईयां उपलब्ध कराई गई। कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से अस्पताल के स्टाफ द्वारा तथा होम आईसोलेशन में भर्ती मरीजों से काल सेंटर के माध्यम से हाल चाल जाना गया तथा पॉजिटिव के दौरान क्या करना है, क्या नहीं करना है, इसकी जानकारी दी गई। उनका कहना है कि कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव के निर्देशन में अस्पताल के स्टाफ द्वारा कोविड केयर सेंटर में समस्त सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। कोविड केयर सेंटर में अच्छा वातावरण मिलने से मरीज जल्दी स्वस्थ्य हो रहे है। कोविड कोयर सेंटर से डिस्चार्ज होने के बाद भी अस्पताल द्वारा हमारा कुशल क्षेम पूछा जा रही है।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned