गेहूं उपार्जन हेतु किसानों को भेजे जाने वाले एसएमएस की दैनिक मानीटरिंग करें

कलेक्टर ने जारी किए निर्देश

By: ayazuddin siddiqui

Published: 16 May 2020, 06:13 PM IST

उमरिया. जिले में राज्य शासन के निर्देशानुसार वर्तमान में 37 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से गेहूं का उपार्जन किया जा रहा है। कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी द्वारा आज कलेक्ट्रेट सभागार में गेहूं उपार्जन की विस्तार से समीक्षा की गई। उन्होंने उपार्जन कार्य मे संलग्न अधिकारियों को निर्देशित किया कि उपार्जन हेतु किसानों को भेजे जाने वाले एस एम एस की सहायक आयुक्त सहकारिता दैनिक मानीटरिंग करें तथा प्रतिवेदन प्रस्तुत करे। उन्होने यह भी निर्देश दिए कि जिन किसानों को पूर्व में उपार्जन हेतु एस एम एस किया गया था किंतु वे अभी तक उपार्जन केन्द्र में नही आए है उन्हें पुन: एस एम एस कर उपार्जन हेतु सूचित किया जाए।
कलेक्टर ने प्रबंधक मार्कफेड को निर्देशित किया कि वे उपार्जित गेहूं का 90 प्रतिशत गेहंू का परिहवन कराकर भण्डारण सुनिश्चित कराएं। आपने यह भी निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत जिलों को आवंटित खाद्यान्न उचित मूल्य की दुकानों तक प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम पहुचाना सुनिश्चित कराए।
बैठक में कलेक्टर ने सहायक आयुक्त सहकारिता को निर्देशित किया कि जिन समितियों द्वारा उपार्जन का कार्य किया जा रहा है उन्हें प्रशासनिक व्यय की राशि उपलब्ध कराई जाए तथा जानकारी प्रस्तुत की जाए। साथ ही उपार्जित गेहूं के भुगतान के संबंध में इस आशय का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करें कि किसी भी किसान का भुगतान शेष नही है। कलेक्टर ने प्रबंधक बेयर हाउस कार्पोरेशन को निर्देशित किया कि मानपुर जनपद पंचायत में खुटार तथा चंदिया तहसील में बेसनी ग्राम में कैप निर्माण का कार्य शीघ्र पूरा कराएं ।
बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी बी एस परिहार, सहायक आयुक्त सहकारिता आरती पटेल, जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंधक दिनेश श्रीवास्तव, नागरिक आपूर्ति निगम बेयर हाउस, मार्कफेड के जिला प्रबंधक मौजूद रहे।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned