विपदा में नहीं दिया साथ, अब अस्पताल का लाइसेंस होगा निरस्त

कलेक्टर ने संजीवनी अस्तपाल का लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश

By: ayazuddin siddiqui

Published: 09 Jun 2021, 11:07 PM IST

उमरिया. विपदा के दौरान साथ ने देने वाले प्राइवेट अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए हैं। दरअसल मई महीने में जिले में लगातार कोविड मरीजों की संख्या बढ़ रही थी। जिसे देखते हुए जिला प्रशासन मरीजों के लिए समुचित व्यवस्था करने में जुटा हुआ था। जिसके लिए निजी अस्पतालों में भी मरीजों के इलाज की व्यवस्था बनाई जा रही थी। कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि मई 2021 में जब कोविड 19 के प्रकरण अधिक थे, उस दौरान संजीवनी हास्प्टिल को कोविड 19 से संक्रमित मरीजो को एडमिट करने के लिए बिस्तर तैयार करने कहा गया था। कलेक्टर द्वारा दिए गए निर्देश के बाद भी संजीवन अस्पताल प्रबंधन द्वारा अस्पताल में बेड की व्यवस्था करने की वजाय हास्प्टिल ही बंद कर दिया गया। अब जब जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हो गई है और बहुत कम केस आ रहे हैं। ऐसे में अस्पताल प्रबंधन ने फिर से अस्पताल शुरू कर दिया है। विपदा के समय जब सभी कंधे से कंधा मिलाकर जिला प्रशासन के साथ खड़े थे और अपने-अपने स्तर पर मदद कर रहे थे उसे दौरान संजीवनी अस्पताल प्रबंधन ने साथ छोड़ दिया। जिसे देखते हुए कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को संजीवनी अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश दिए है।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned