उमरार डेम में क्षमता से अधिक पानी आया

उमरार डेम में क्षमता से अधिक पानी आया

ayazuddin siddiqui | Publish: Sep, 08 2018 05:08:37 PM (IST) Umaria, Madhya Pradesh, India

मूसलाधार बारिश से नदी नाले उफान पर, पुल के ऊपर बह रहा पानी

उमरिया. शुक्रवार को शहर भर में तेज बारिश से नदी नाले उफान पर रहा। जगह जगह नालियां नाला सड़क के ऊपर से बह रहा था। सड़को में पानी ही पानी नजर आ रहा है। लगातार तीन घंटे से तेज बारिश से जन जीवन अस्त व्यस्त रहा। उमरार डेम में क्षमता से अधिक पानी होने के कारण उमरार डेम का पानी नदी में छोड़ा गया। जिसके कारण उमरार नदी में बाढ़ जगह स्थिति निर्मित बन गयी। पाली रोड का पुल के ऊपर से पानी बह रहा था। खलेसर पुल से आवागमन को शुरु किया गया। लेकिन बारिश के कारण जाम की स्थिति बन गयी। हर कोई जल्दी के चक्कर के में गतंव्य की ओर जाना चाहते थे। बारिश के वजह से वो भी जाम में ही फंसे रहे। खास कर इस दौरान स्कूली बच्चों का खासा परेशानियों का सामना करना पड़ा। बारिश इतनी तेज थी कि वे छत्ते लेने के बावजूद भींगते हुये अपने घर गये। लोगों का कहना था कि ऐसी बारिश 2001 में रहा है जो आज देखने को मिला है। खलेसर घाट पानी से पूरी तरह डूबा रहा।
खेतों में भरा पानी
बारिश के कारण इनता पानी भर गया था कि मानो खेतों में पानी पानी ही नजर आ रहा था। किसान पानी को बाहर करने के लिये जद्दोजहद करते रहे। किसानों का कहना था कि अधिक पानी होने से धान की उपज प्रभावित होगी। इस कारण खेतों से पानी निकाल का प्रयास करते रहे। वहीं दलहनी फसलो के लिये यह पानी नुकसानदायक बताया जा रहा है।
पानी में डूबी गलियां
बारिश के कारण हर गली मोहल्ले की सड़के पानी में डूबा नजर आया। लोगों को चलने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बताया गया कि पानी सड़क व नालियों के समतल में रहा जिस कारण लोगों को समझ नहीं आ रहा था कि सड़क पर है या नहीं। इतनी तेज बारिश के चलते आवागमन में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। लेकिन बारिश थमने का नाम नहीं लिया था।
उमरार डेम हुआ लबालब
शहर का उमरार डेम इन दिनों बारिश अच्छी होने के चलते पानी से लबालब नजर आया है। उमरार डेम में लगभग तीस फिट से अधिक पानी हो गया है। जिसके कारण पानी ओवर प्लो होने के चलते नदी में छोड़ा गया। जहां उमरार नदी उफान पर हो गयी। वहीं डेम में इतना पानी के चलते नहरों में भी पानी छोड़ा गया।
तेज बारिश से कई घर हुये धरासायी
सुभाषगंज में शांति यादव का खपड़ैल घर इस बरसात में ध्वस्त हो गया। इसके अलावा की जिले के जगहों से भी मकान गिरने की सूचना मिल रही हैएइस अनवरत बारिश से जहां दैनिक कार्यों को प्रभावित किया वहीं शिक्षण संस्थान भी प्रभावित हो रहे हैं। जिले के शासकीय महाविद्यालय ने तो तालाब का रूप ले लिया हैं। छात्रों को भवन के अंदर तक पहुंचने के लिए घुटने घुटने तक पानी से होकर जाना पड़ रहा है। यही हाल कई स्कूलों का भी है। पिछले कई वर्षों बाद इस तरह की मूसलाधार बारिश देखने को मिली।
पाली रोड पुल पानी में डूबा
पिछले दो दिनों से हो रही लगातार मूसलाधार बारिश ने अब अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। बरसात में जहां उमरिया का उमड़ार डेम कई वर्षों बाद ओवर फ्लो हुआ वहीं नगर के आसपास की नदियों में जबरदस्त उफाान देखने को मिल रहा है। खलेसर नदी का पाली रोड पुल के ऊपर से पानी चल रहा। जिससे आवागमन ठप्प हो गया है लोग दूसरे पुल से घूम कर जाने को मजबूर है और जिस तरह लगातार बारिश हो रही है सभी पुल के ऊपर से पानी चलने के हालात नजर आ रहे हैं, फजिलगंज की नदी के आसपास बने घरों में पानी घुस चुका है लोग अपने सामान एवं खाने पीने की चीजों को बचाने में लगे हैं। शुरुआत में तो लोगों ने बारिश को अच्छा बताया और खुशी जाहिर की थी, लेकिन अब जो हालात बनते दिख रहे हैं वह कही न कहीं लोगो को दहशत में भी डाल रहे हैं।

Ad Block is Banned