लोगों को कलेक्टर से उम्मीद इस कारोबार पर लगेगी रोक

दिन रात नदियों का सीना रौंद रहे ट्रैक्टर, प्रतिदिन सैकड़ो ट्राली निकल रही रेत

By: Ramashankar mishra

Published: 01 Jul 2019, 12:20 PM IST

उमरिया. जन समस्याओं को अपना मान कर उनके त्वरित निराकरण के लिए नित नई कार्य योजना बनाने वाले जिले की मुखिया की निगाहे जिले भर में फैले रेत के अवैध कारोबार पर नहीं पड़ी है। शायद यही वजह है के रेत के कारोबार को लाभ का धंधा बनाने वाले रेत कारोबारी दिन रात नदियों का सीना छलनी कर रहे हैं। रेत कारोबारी बेखौफ हैं और विभागीय अधिकारी पूरी तरह से चुप्पी साधे हुए हैं। जिसके दुष्परिणामों का सामना स्थानीय लोगों को करना पड़ रहा है। यह कारोबार न केवल नदी नालों का दोहन कर रहे हैं बल्कि स्थानीय लोगों के साथ दबंगई से पेश आने में भी कोई कोर कसर नहीं छोंड़ रहे हैं। जिले के अंदर कोई भी नदी नाला इन रेत कारोबारियों की निगाह से नहीं बच पाया है। जिले में रेवड़ी की तरह बांटी गई भण्डारण की अनुमति ने रेत कारोबारियों की राह और भी आसान कर दी है।
भदार नदी छलनी
मानपुर जनपद पंचायत अंतर्गत इंदवार थाना की सीमा से लगे सुखदास, मुडग़ुड़ी, कुड़ी सलैया, पतौर में रेत कारोबारियों ने अपनी अलग ही सल्तन बना रखी है। यहां इनके द्वारा क्या किया जा रहा है। कितना उत्खनन व परिवहन किया जा रहा है यह देखने वाला कोई नहीं है। स्थिति यह है कि रेत कारोबारियों ने भदार नदी को पूरी तरह से छलनी कर दिया है। उक्त नदी से हर माह हजारों ट्रक रेत निकाली जा रही है। जिससे शासन को लाखों के राजस्व का चूना लगाया जा रहा है।

कार्रवाई का इंतजार

क्षेत्रीय ग्रामीणों द्वारा भदार नदी में चल रहे मनमानी रेत उत्खनन, भण्डारण व परिवहन को लेकर कई बार शिकायत भी की गई। इसके बाद भी विभागीय अधिकारियों व प्रशासनिक अमले ने इस ओर रुख नहीं किया। जिसके चलते इन रेत कारोबारियों के हौसले और भी बुलंद है। इतना ही नहीं रेत के इस कारोबार को लेकर क्षेत्र में कई बार विवाद की स्थितियां भी निर्मित हो चुकी है। इसके बाद भी इस ओर ध्यान न देना समझ से परे हैं।

Ramashankar mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned