दो ट्रकों में लोड आठ सौ सिलेण्डर जब्त

दो ट्रकों में लोड आठ सौ सिलेण्डर जब्त

ayazuddin siddiqui | Publish: May, 03 2019 09:30:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

पुलिस सहित खाद्य विभाग की कार्रवाई

उमरिया. केंद्र सरकार की महत्वाकांछी उज्ज्वला योजना के क्रियान्वयन पर तो पहले से ही सवाल उठ रहे थे, लेकिन बुधवार की रात कोतवाली पुलिस द्वारा दो ट्रकों में लोड कर अवैध रूप से नागपुर ले जाये जा रहे सिलेण्डरों की जब्ती में उज्ज्वला योजना की जमीनी हकीकत बयान कर दी है। मामला जिला मुख्यालय से लगे ग्राम करके ली से संचालित एच पी गैस एजेंसी से जुडा हुआ है।
जो सिलेण्डर जब्त किए गए है उनमें आधे से अधिक में उज्ज्वला योजना के दी जाने वाली जानकारी चस्पा है। अर्थात सिलेण्डर बताते है कि ये सिलेण्डर उज्ज्वला योजना के ही है।
जिले में मचा हड़कंप
जिला मुख्यालय के समीप ही दो ट्रकों में अवैध रूप से आठ सौ सिलेण्डरों का परिवहन एवं संग्रहण की सूचना से प्रशासनिक अधिकारियो मे हड़कंप मचा हुआ है। उल्लेखनीय है कि पेट्रोलियम एवं ज्वलनशील पदार्थाे के परिवहन के लिए एजेंसियां अधिकृत गाडिय़ों का ही प्रयोग करती है लेकिन जब्त किए गए ट्रक पूर्णत: निजी है और इन वाहनों में ज्वलनशील पदार्थो का परिवहन भी पूर्णत: प्रतिबंधित है ऐसे में सुनियोजित तरीके से आठ सौ सिलेण्डरों का परिवहन बड़ी साजिश की ओर इशारा करता है। दूसरी ओर जिले के प्रशासनिक अधिकारी भी इस मामले में हैरान है कि आखिर इतना बड़ा रैकेट उनकी गैर जानकारी में जिले में सक्रिय था।
बड़ी कार्रवाई की दरकार
जिस तरह से उज्ज्वला योजना के आठ सौ सिलेण्डर जब्त किए गए है वे जिले भर में योजना के क्रियान्वयन पर सवाल खड़े करते है साथ ही एच पी के अलावा जिले में संचालित गैस एजेसियो के द्वारा योजना के क्रियान्वयन के जमीनी हकीकत की जांच की जरूरत भी एहसास करा रहे है। जानकारो ने इस मामले मे जिला एवं पुलिस प्रशासन से आरोपियो के विरूद्ध कडी से कडी कार्यवाही की मांग की है।
झूठ बोलकर जमा कराए सिलेण्डर
इस पूरे मामले में महत्वपूर्ण बात यह है कि उज्ज्वला योजना के तहत जिले भर मे बांटे गये गैस सिलेण्डरों को गरीबों के घरों से एजेंसी संचालकों ने यह कह कर उठवा लिया कि इस योजना के तहत उनका रजिस्ट्रेशन रद्द हो गया है इसलिए गैस सिलेण्डर जमा करने होगे। जब्त किए गए सिलेण्डरों में से आधे से अधिक वे सिलेण्डर है जो बांटे ही नही गये और बाकी वो सिलेण्डर है जो योजना के तहत बांटे तो गये लेकिन झूठ का भ्रम फैला कर अवैध कमाई के लालच में एजेंसी संचालकों ने गरीबो के घर से उठवा लिए और फिर इसे एकत्रित करके अन्यत्र ले जाने की फिराक में थे।
नागपुर में बेचने की थी तैयारी
उज्ज्वला योजना अंतर्गत जिले मेे गरीब वर्ग के हजारो लोगों को गैस क नेक्शन देकर सरकार ने सहूलियत देने की मंशा बनाई थी, लेकिन गैस संचालकों ने सरकार की इस योजना पर कागजी मुलम्मा चढ़ा दिया और बिना कनेक्शन दिए ही गरीबों के नाम की सूची सरकार तक पहुचा दी। आलम यह हुआ कि उज्ज्वला योजना के तहत कनेक्शन के नाम पर एजेंसी संंचालकों को दी जाने वाली राशि तो संचालकों को प्रदान कर दी गई लेकिन गरीबों तक गैस कनेक्शन पहुंचे ही नहीं। गरीब बेचारे गैस सिलेंडर का इंतजार ही करते रह गए।
मामले क ो निपटाने का प्रयास
सिलेण्डरो से भरा वाहन जैसे ही पकड़ा गया , मामले को निपटाने के लिए कई प्रयास बनाया गया है चूंकि इस मामले में एक कांग्रेसी नेता का नाम उभर कर सामने आ रहा है जिसे बचाने के लिए अदने से लेकर बडे नेताओ के फोन भी आ रहे है।
जबलपुर से हायर की गई थी गाड़ी
ट्रक के ड्रायवर ने बताया कि यह गाड़ी जबलपुर से हायर की गई थी, यह बताया गया था कि उमरिया से माल लेकर गोदिया बेस्ट बंगाल को जाना है। उस हिसाब से हम लोग यहां पर आये हुए थे। बाकी मामला क्या है इससे हमें कोई लेना देना नही है।
इनका कहना है
बुधवार की रात लोहार गंज से दो ट्रकों में लोड आठ सौ अधिक गैस सिलेण्डर जब्त किए गए है मामला गंभीर है जांच जारी है।
सचिन शर्मा, पुलिस अधीक्षक, उमरिया।
--------------------------
यह मामला आवश्यक वस्तु अधिनियम के सरेआम उल्लंघन का है। इस मामले में कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
सुरेश मरावी, सहायक खाद्य अधिकारी, उमरिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned