जिले में 1 लाख 386 बच्चों का मिला लक्ष्य

पल्स पोलियो अभियान का कलेक्टर ने किया शुभारंभ

By: ayazuddin siddiqui

Published: 08 Apr 2019, 09:30 AM IST

उमरिया. जिंदगी की दो बूंद पल्स पोलियो अभियान के तहत जिला चिकित्सालय में नवजात शिशु को पोलियो दवा पिलाकर कलेक्टर ने की अभियान की शुरूआत की। इस अवसर पर सीएमएचओ डा. राजेश श्रीवास्वत, जिला टीकाकरण अधिकारी डा. शाक्य सहित जिला चिकित्सालय के स्टाफ उपस्थित रहे। पाली स्थित मां विरासिनी देवी मंदिर प्रांगण में भी पोलियो बूथ स्थापित किए गए थे। जिसमें दर्शनार्थियों के साथ आने वाले जन्म से 5 वर्ष आयु तक के बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई गई। कलेक्टर स्वरोचिश सोमवंशी ने आगामी तीन दिनों में शत प्रतिशत जन्म से पांच वर्ष तक के बच्चों को अनिवार्य रूप से पोलियो की दवा पिलाने के निर्देश दिए है। पोलियो बूथ में जन्म से 5 वर्ष तक के 1 लाख 386 बच्चों को पल्स पोलियो की दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। टीकाकरण अधिकारी ने बताया कि अभियान 9 अप्रैल तक चलाया जाएगा। इस दौरान जिले में ए टाईप के 15, बी टाईप के 470, सी टाईप के 326 कुल 811 बूथ बनाये गये है। इसके अलावा 24 ट्राजिट 5 मोबाइल टीम कार्य कर रही थी।
पिलाई गई दवा
पाली में पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ एसडीएम दीपक चौहान ने दो बूंद बच्चों को पोलियो की दवा पिलाकर किया। इस दौरान बीएमओ डॉ व्ही के जैन, डॉ सराफ, संतोष प्रजापति सहित स्वास्थ्य अमला मौजूद रहा। बीएमओ डॉ व्ही के जैन ने बताया कि यह अभियान तीन दिन चलेगा। जिसमे 13 हजार बच्चों को पोलियो की खुराक देने का लक्ष्य रखा गया है। पहले दिन पोलियो की दवा बूथ पर दूसरे व तीसरे दिन घर घर जाकर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी पोलियो की दवा पिलायेंगे। अभियान में स्वास्थ्य विभाग के एएनएम आशा व उषा कार्यकर्ता लगाए गए है। महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी मोनिका सिन्हा ने बताया कि अभियान को गति देने के लिए विभाग से सभी आंगनवाडी कार्यकर्ताओ को निर्देशित किया गया है कि लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए शत प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक देनी है। इन्होंने बताया कि हमारे विभाग से करीब 52 कर्मचारी पल्स पोलियो अभियान में लगे हुए है। सभी से इस अभियान को सफल बनाने की बात कही गई है।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned