बाघों के रहवास के अनुकूल हैं यहां के वन

बाघों के रहवास के अनुकूल हैं यहां के वन

ayazuddin siddiqui | Publish: May, 23 2019 09:40:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

बांधवगढ़ में जैव विविधता संगोष्ठी का किया गया आयोजन

उमरिया. बाघों के लिए विश्व प्रसिद्ध बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में बुधवार को जैव विविधता दिवस के मौके पर बुधवार को जैव विविधता संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर पार्क के प्रभारी डायरेक्टर ए के जोशी उप संचालक बीटीआर सिद्धार्थ गुप्ता अपर संचालक अनिल शुक्ला सहित सभी वन परिक्षेत्राधिकारी कर्मचारी, पर्यावरण विद एवं ग्राम वन समतियों के प्रतिनिधि एवं ग्रामीण मौजूद रहे। संगोष्ठी के दौरान बांधवगढ़ के जंगलों में मौजूद वन एवं वन्य जीव संपदा के सरंक्षण संवर्धन के उपायों पर चर्चा की गई और ग्रामीणों को इनके महत्व के बारे में जानकारी दी गई। इस दौरान पार्क के क्षेत्र संचालक ने कहा कि बांधवगढ़ में मौजूद जैव विविधता दुनिया भर में जानी जाती है इसलिए हम सबकी जिम्मेदारी है कि हम इसे बनाये रखें। पार्क के उपसंचालक सिद्धार्थ गुप्ता ने कहा कि बाघों के आवास रहवास के लिए हमारे यहां के जंगल अनुकूल हैं। जिसके कारण यहां कम क्षेत्रफल में भी तुलनात्मक दृष्टिकोण से ज्यादा बाघ मौजूद हैं। पार्क के अपर संचालक अनिल गुप्ता ने बांधवगढ़ में मौजूद जैव विविधता की जानकारी दी और वन्य जीवों के सरंक्षण के लिए पार्क प्रबंधन द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बारे में विस्तार से बताया। वन परिक्षेत्राधिकारी पनपथा वीरेंद्र ज्योतिषी ने ग्राम वन समितियों के प्रभारी एवं ग्रामीणों को जंगली हाथियों के उत्पात से बचने के उपाय बताए। वीरेंद्र ज्योतिषी ने बताया कि जंगली हाथियों का गांवो में प्रवेश रोकने के लिए जंगल मे मौजूद सूखे पत्ते जलाएं और उन्हें दूर से दिखाकर वापस करने का प्रयास करें और वन विभाग को जल्द से जल्द सूचना दें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned