न्यायाधीश ने कहा- आपसी विवादों को राजीनामे से निपटाने में लोक अदालत की बड़ी भूमिका

वर्षों से लंबित कई मामले निपटे

By: ayazuddin siddiqui

Published: 11 Sep 2021, 11:38 PM IST

उमरिया. जिला न्यायालय परिसर में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सनत कुमार कश्यप के मुख्य आतिथ्य में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव, अशरफ अली, सचिव विधिक सेवा प्राधिकारी राजेश तिवारी, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राम प्रकाश अहिरवार, न्यायाधीश खालिदा तनवीर, न्यायाधीश राजन गुप्ता, जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष पुष्पराज सिंह, जिला विधिक सहायता अधिकारी बीडी दीक्षित, अधिवक्तागण, पक्षकारगण, कर्मचारी गण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के तैल चित्र पर दीप प्रज्जवलन करके किया गया। नेशनल लोक अदालत के लिए 10 खण्डपीठों का गठन किया गया था, जिसके माध्यम से प्रकरणों का निपटारा कराया गया।
इस अवसर पर प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सनत कुमार कश्यप ने कहा कि आपसी विवाद को राजीनामे से निपटाने मे नेशनल लोक अदालत अपनी महती भूमिका अदा करता है। नेशनल लोक अदालत से प्रकरणों के निपटने से जहां एक ओर पक्षकारो का समय बचता है, वहीं दूसरी ओर पैसे की भी बचत होती है। नेशनल लोक अदालत में किसी हार एवं जीत नही होती हैं।
आपसी मन मुटाव को भूलकर कई परिवार नेशनल लोक अदालत की वजह से संवर जाते है। जिला न्यायालय के साथ ही न्यायालय बिरसिंहपुर पाली, मानपुर में भी नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया।
एक साथ रहने प्रकाश और सीमा ने लिया वचन
नेशनल लोक अदालत में प्रकाश बर्मन सीमा बर्मन निवासी चंदवार भी पहुंचे, जिन्हें जिला सत्र न्यायाधीश के द्वारा दोनों को समझाइश देकर इनको एक बंधन सूत्र में जीवन साथ रहने के लिए संपूर्ण लिखा पढ़ी के द्वारा एक साथ रहने के लिए समझाइश दी गई और उन्हें जीवन यापन दुख सुख साथ साथ रहकर निभाने का वचन लिया और उनकी समझाइश पर दो बिछड़े परिवार एक हुए। दोनों के द्वारा एक दूसरे को माला पहनकर प्रसन्न होकर अपने घर चले गए।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned