चार सौ खंभो की बंद है स्ट्रीट लाइटें

राहगीरों को हो रही परेशानी

By: shivmangal singh

Published: 24 Jul 2018, 06:04 PM IST

उमरिया. पूर्व नगर परिषद द्वारा शहर में चारों तरफ प्रकाश की समुचित व्यवस्था करने के लिये बिजली के खंभों में लगी घटिया क्वालिटी की एलईडी धीरे- धीरे काम करना बंद कर रही हैं। जिसके चलते शहर में प्रकाश की समुचित व्यवस्था नहीं होने से दिन ढलते ही अंधकार से घिर जाता है। शहर के चौराहे, तिराहे मुख्य मार्ग तथा वार्ड और बस्तियों में स्ट्रीट लाइटें बंद रहने के कारण लोगों को रात में आने जाने में परेशानियां हो रहीं हैं। बरसात के मौसम में रात को बिजली की सर्वाधिक जरूरत रहती है, लेकिन नगरपालिका द्वारा सुधार करने की दिशा में कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। ज्ञातव्य है कि प्रकाश व्यवस्था के लिए नगर में 15सौ से अधिक खंभे लगे हुए हैं। वर्तमान में लगभग 4 सौ खंभों की प्रकाश व्यवस्था ठप है। स्ट्रीट लाइटों से संबंधित दो माह के अंतराल में करीब 100 शिकायतें की गईं, लेकिन कोई सुधार नहीं किया गया। नगरपालिका के पास अभी तक स्ट्रीट लाइट सुधारने के पर्याप्त संसाधन भी नहीं हैं। नगर के जिन प्रमुख तथा भीड़ भरे चौराहों की स्ट्रीट लाइट बंद है। उनमें जयस्तंभ चौक, घघरी नाका, पीटीएस चौक, सगरा तिराहा प्रमुख हैं। जबकि वार्डों में विकटगंज, जमुनिहा, छटन, लोहार गंज, ज्वालामुखी मंदिर मार्ग, सुभाष गंज आदि में काफी दिनों से स्ट्रीट लाइट बंद रहने की जानकारी मिली है। दूसरी ओर देखभाल बिना डिवाइडरों के बीच लगी एलईडी लाइट दिन को भी जलती रहती है। चौराहों में कहीं बल्ब फ्यूज हैं, तो कहीं ट्यूबलाइट फूटी हुई है। कहीं चोक व स्टार्टर खराब हैं। इन्हे बदला नहीं जा रहा है। वार्डों में कही 85 वाट तो कहीं 36 वाट के बल्व लगे हैं जो खराब हो चुके हैं।
नहीं खरीदे गए बिजली के उपकरण
बताया गया कि नगरपालिका के पास 40 वाट की ट्यूब लाइट राड, स्टार्टर, चोक की कमी है। पिछले नौ माह से इन सामानों की खरीददारी नहीं की गई। इसका कारण यह है कि स्ट्रीट लाइटों की व्यवस्था की ओर अधिक ध्यान नहीं दिया जा रहा है। लोग शिकायतें करते हैं, लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिलता। बरसात के महीने में कीचड़ पानी के कारण विषैले कीड़े सडक़ों पर घूमते रहते हैं। अंधकार में जिनके दंश का भय बना रहता है।
सुधार कार्य में होती है देरी
स्ट्रीट लाइटों की सुधार व्यवस्था आज भी विद्युत मण्डल के लाइन मैन और हेल्परों पर आश्रित है। जो खंभो में चढ़ कर सुधार कार्य करते हैं। नगरपालिका के पास अभी तक लिफ्ट स्काई वाहन नही है। जिसके सहारेे खंभो के ऊपर लगे उपकरण बदले या सुधारे जाएं। विद्युत मण्डल से एक लाइनमैन नगरपालिका को दिया गया है, लेकिन वह भी सप्ताह में एक दो दिन उपलब्ध होता है। इसलिए भी सुधार कार्य जल्दी नहीं हो पाता है।
इनका कहना है
स्ट्रीट लाइटों में सूचना अनुसार शीघ्रता से सुधार कराने का प्रयास किया जाता है। जहां भी लाइट बंद है वहां जल्दी ही सुधार कराया जाएगा।
हेमेश्वरी पटले, सीएमओ, नपा

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned