मंदिर रहे सूने, घरों से देवी की आराधना

नवरात्र पर लॉकडाउन का असर

उमरिया . नवरात्र के अवसर पर जहां एक हप्ते पहले से मंदिरो की साज सज्जा, रंगाई पुताई का काम चालू हो जाता था, लेकिन कोविड 19 कोरोना वायरस के चलते मंदिर सूने रहे। विदित हो भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 21 दिन के लिये लॉक डाउन किया गया हैं। जिसके चलते उमरिया नगर में चहल पहल नही रही। लोगों ने अपने अपने घरों में ही पूजा पाठ की। स्थानीय ज्वालामुखी मंदिर के बाहर पुलिस का दल तैनात रहा। इसी तरह बिरसिंहपुर पाली स्थित मां विरासिनी धाम के गेट के बाहर भी मंदिर प्रबंधन समिति के द्वारा सूचना लगाई गई थी। जिसमें कोरोना वायरस जैसी गंभीर महामारी एवं जनहित के स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए वर्तमान स्थिति को परिलक्षित कर श्रद्धालु दर्शनार्थियो से अपील की गई थी कि 31 मार्च 2020 तक माता मंदिर पर आराधना, दर्शन के स्थान पर अपने घरो में ही माता की अराधना करे।
लॉकडाउन के चलते पुलिस का पहरा
कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश मे बीती रात से लागू हुए लॉकडाउन को लेकर जिला मुख्यालय के गांधी चौक, रेलवे, पुराना बसस्टैन्ड, घंघरी-बाईपास चौराहे के अलावा मां ज्वालामुखी मंदिर सहित हर धार्मिक स्थल पर पुलिस का कड़ा पहरा है। हर आने जाने वालों से कड़ी पूछताछ के बाद उन्हे समझाईश देकर ही आगे रवाना किया गया। वहीं पुलिस प्रशासन द्वारा मुस्तैदी के साथ चेकअप कर लोगो को घर पर रहने कि समझाईश दी गई। कोविड 19 कोरोना वायरस को लेकर मंदिरो मे दर्शन नहीं करने की अपील का श्रद्धालुओ ने स्वागत करते हुए अपने अपने घरों में ही माता की अराधना की, श्रद्धालुओ ने अपने अपने घरो में ही रहकर व्रत रखा तथा पूजा पाठ की। विदित हो कि कल प्रथम दिन शैलपुत्री की पूजा पाठ किया गया। आज द्वितीय ब्रम्हचारिणी माता की पूजा अर्चना की जाएगी।
चैत्र नवरात्र का शुभारंभ बुधवार से हुआ है । नवरात्रि में कोरोना वायरस को लेकर उमरिया के बिरसिंहपुर पाली में असर भी देखा जा रहा है। देश प्रदेश में विख्यात सुप्रसिद्ध नगर के माता बिरासिनी मन्दिर में लॉक डाउन होने के बाद श्रद्धालु मन्दिर पहुंचे जो बाहर से पूजा आराधना कर अपनी आस्था प्रकट की वहीं मन्दिर में घट स्थापना व कलश स्थापना तहसीलदार ने किया।
घर पर ही पूजा-अर्चना करें, मंदिरों में नहीं जाएंं
कलेक्टर स्वरोचिश सोमवंशी एवं पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने जिले के निवासियों को चैत्र नवरात्रि की शुभकामनायें दी हैं। साथ ही उन्होंने जिले के निवासियों विशेषकर महिलाओं से अपील की है कि वे कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की आशंका को देखते हुये घर पर ही पूजा-अर्चना करें, मंदिरों में नहीं जायें। उन्होंने बताया कि पूरे विश्व में तथा भारत में भी कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के चलते लोग बीमार हो रहे हैं। जिसका अब तक कोई इलाज नहीं है, इसलिये बचाव ही एकमात्र उपाय है। इससे बचाव के लिये आवश्यक है कि लोग एक दूसरे से दूरी बनाये रखें तथा अपने घर पर ही रहें।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned