स्वतंत्रता दिवस पर विभाग द्वारा बजट से बांट दी गई मिठाई

स्वतंत्रता दिवस पर विभाग द्वारा बजट से बांट दी गई मिठाई

ayazuddin siddiqui | Publish: Sep, 16 2018 05:35:56 PM (IST) Umaria, Madhya Pradesh, India

आरईएस विभाग ने नहीं किया प्रचार-प्रसार

उमरिया. शासन स्तर पर सामजिक हितों को साधने का कार्य कर रहे विभागों के लिए प्रचार-प्रसार की जिम्मेदारी निर्माण कार्य वाले विभागों को दी जाती है। इसके लिए एक निर्धारित बजट भी दिया जाता है। इस बजट के माध्यम से सामजिक हितों को कार्य कर रहे विभाग से समाज को किस प्रकार से लाभ मिल रहा है, उसकी जानकारी सार्वजनिक की जाती है। लेकिन कुछ विभाग इस प्रकार के पूरे के पूरे बजट को ही 15 अगस्त के दिन होने वाले मिष्ठान वितरण में ही समेट दिया है। पूरे बजट का इस्तेमाल करते हुए विभाग की कोई जानकारी को केवल कागजों में ही समेट दे रहे हैं।
ऐसा ही एक मामला आरईएस विभाग का है, जिसे महिला बाल विकास के द्वारा किये गये जनहित कारी कार्यों को प्रचार-प्रसार करना था, लेकिन आरईएस विभाग के द्वारा न तो मीडिया कार्यशाला न ही स्कूलों में महिला बाल विकास की योजनाओं को फिल्म के माध्यम से, न ही विद्वानों के घर-घर जाकर इन योजना के लाभ को बताया गया। शासन स्तर पर इस सितम्बर माह की 1 तारीख से लेकर 15 तारीख के बीच में आरईएस विभाग को महिला बाल विकास विभाग की जानकारी को सार्वजनिक करना था, लेकिन पूरे बजट को केवल स्वतन्त्रता दिवस की मिठाई में ही खर्च करना बता रहे हैं।
विभाग प्रमुख कार्यपालन यंत्री बीएस ठाकुर ने बताया कि उनके द्वारा आजादी के दिवस पर 10 हजार की मिठाई बांटी गयी है। आरईएस विभाग के द्वारा पहली बार नहीं ऐसे ही निर्माण कार्यों में भी लापरवाही और गुणवत्ता विहीन कार्य किये जाते रहे है। इसी को देखते हुए शासन ने भी उमरिया जिले के आरईएस विभाग को निर्माण कार्य की जिम्मेदारी नहीं सौंप रहे हैं।
जिला मुख्यालय से मात्र तीन किलोमीटर दूर ग्राम चंदवार में आरईएस विभाग के द्वारा जो सड़क बनवायी गयी है। वो बनाने के समय से विवादों में रही है। गुणवत्ताविहीन सीसी रोड का निर्माण कार्य तो बनवायी गयी है, लेकिन उसके दोनों ओर नालियों का निर्माण नहीं किया गया। नालियों का निर्माण नहीं होने के कारण नाली का पानी सड़क पर फैल जाता है, वहां से गुजर रहे स्कूली बच्चों को उसके उपर से गुजरने को मजबूर होना पड़ता है। इसकी शिकायत वहां के ग्रामवासियों के द्वारा कई बार की गयी, लेकिन विभाग द्वारा इस बजट को भी अपने जेब में डालकर ग्रामवासियों को परेशान होने के लिए छोड़ दिया गया।
इनका कहना है
सितम्बर माह में महिला बाल विकास विभाग के कार्यों के जानकारी और प्रचार-प्रसार करना है, उसके लिए अभी कुछ दिन शेष है, वो प्रचार-प्रसार कर दिया जायेगा। सीमित बजट में इतने कार्यों को समेटना बहुत मुश्किल कार्य है।
बीएस ठाकुर, मुख्य कार्यपालन यंत्री आरईएस विभाग।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned