scriptThey got their dream house, it was difficult to spend the night under | इन्हें मिल गया अपने सपनों का घर, टपकती छत के नीचे रात गुजारना होता था मुश्किल | Patrika News

इन्हें मिल गया अपने सपनों का घर, टपकती छत के नीचे रात गुजारना होता था मुश्किल

पक्का मकान मिलने से दूर हुई मुश्किलें

उमरिया

Published: February 24, 2022 06:29:55 pm

उमरिया. बारिश का मौसम हो और ऊपर से आपके घर की छत से पानी का रिसाव हो रहा तो सोचिए आप किस तरह से इस घर में रहेंगे। ऐसे कई गरीब परिवार हैं जिनके पास या तो सिर छिपाने के छत नहीं या फिर अगर घर है भी तो उससे बारिश के दिनों में लगातार पानी का रिसाव होता रहता है। ऐसे लोगों के सामने समस्या यह होती है कि वे अपने आपको इस बारिश के पानी से बचाएं अथवा घर में रखे सामान को। ऐसे में सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना इन गरीब लोगों की रहनुमा बन रही है और इन्हें इनके सपनों का घर देने के हर संभव प्रयास कर रही है। शासन की योजना के तहत कई गरीब परिवारों को आवास योजना का लाभ मिल चुका है। ऐसा ही एक मामला देखने मिला जहां मुख्याल के कैंप निवासी धन्नू लाल रैकवार जो छोटी सी चना रैकवार के नाम से दुकान संचालित कर अपने परिवार का भरण-पोषण करते है। 60 साल से वे कच्चे मकान में रह रहे थे। बारिश के मौसम में घर के अन्य जरूरी सामान को भी बहुत नुकसान होता था। धन्नू लाल रैकवार हमेशा यही सपना देखा करते थे कि कब उनका पक्का मकान हो।
धन्नूलाल के बेटे विष्णु रैकवार ने बताया कि पिता इस वजह से काफी परेशान रहने लगे। उन्हें नगर पालिका उमरिया के माध्यम से प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के बारे में जानकारी मिली। जिसके बाद धन्नूलाल ने आवेदन दिया और कुछ माह के अन्दर प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत उनका पक्का मकान बन गया।
इसी तरह जगदीश रैकवार के बेटे पवन रैकवार ने बताया कि करीब 50 साल से कैंप में कच्चे मकान मे रह रहे थे। बरसात के दिनों मे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। खपरैल वाला घर होने के कारण कभी कभी ओले के कारण खपरैल फूट जाती थी, जिसकी मरम्मत कराने में भी पैसा खर्च होता था। उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी की जानकारी मिलने पर पिता जगदीश रैकवार के नाम से आवास के लिए आवेदन किया। आवास स्वीकृत होने पर उन्होंने पक्का मकान बनवाया।

They got their dream house, it was difficult to spend the night under a leaking roof
They got their dream house, it was difficult to spend the night under a leaking roof

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

अमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामदMansoon Update:समय से तीन पहले केरल में मानसून की एंट्री, हो रही बारिश, जानिए आपके यहां कब बदलेगा मौसमIPL 2022 Final मुकाबले में बन सकते हैं ये खास रिकॉर्ड, अश्विन, चहल, शमी, बटलर सभी के पास सुनहरा मौकासावधान कोई सुन रहा है आपको, फोन पर बातें सुन दिखाए जा रहे विज्ञापनMann ki baat: केदारनाथ पर गंदगी फैला रहे श्रद्धालु , प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- तीर्थ सेवा के बिना तीर्थ यात्रा अधूरी1 जून से बदल जाएंगे ये बड़े 5 न‍ियम, आपकी जेब पर होगा सीधा असरमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगUEFA Champions League 2022: विनिसियस जूनियर के गोल से रियाल मैड्रिड ने रचा इतिहास, लिवरपूल को हरा 14वीं बार जीता खिताब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.