चौकीदार पर बाघ ने किया हमला, साथियो ने डंडे से पीटकर मौत के मुह से छुड़ाया

अग्नि दुर्घटना के बाद विचलित हो रहे वन्यजीव: तीन दिन में बाघिन और तेंदुए की मौत, बाघों का दो पर हमला
फोओ 1

By: ayazuddin siddiqui

Published: 06 Apr 2021, 11:16 PM IST

उमरिया. बांधवगढ नेशनल पार्क अंतर्गत पनपथा जोन के जंगल में नर बाघ द्वारा लगातार इंसानो पर हमला किए जाने के मामले प्रकाश में आ रहे हैं। सोमवार को जहां बाघ ने एक चरवाहे पर हमला कर उसे गंभीर रूप से जख्मी कर दिया था वहीं मंगलवार को भी बाघ ने चौकीदार पर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। गनीमत थी कि मौके पर कुछ और भी चौकीदार भी मौजूद थे जिन्होने किसी प्रकार अपने साथी की जान बचाई। जानकारी के अनुसार पनपथा कोर क्षेत्र अंतर्गत कुसमहा बीट के खमेरिहा हार के जंगल मे आग लगी हुई थी। जिसे आधा दर्जन चौकीदार बुझाने में लगे हुए थे। आग बुझाकर लौटते समय झाडिय़ों के बीच में छिपे बाघ ने चौकीदार हेमराज केवट पिता झल्ला केवट 46 वर्ष निवासी हरदी के ऊपर झपट्टा मार अपने चंगुल में दबा लिया। बाघ द्वारा किए गए हमले से घबराए चौकीदार ने सोर मचाना शुरु कर दिया। जिसकी आवाज सुनकर चौकीदार के अन्य साथी मौके पर पहुंच गए। जिन्होने डंडों से बाघ पर प्रहार करना शुरु कर दिया। जिससे बाघ चौकीदार को घायल अवस्था में मौके पर छोंड़कर जंगल की ओर भाग गया। साथी चौकीदारों ने घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। जानकारी मिलते ही वन अमला मौके पर पहुंचा और समुचित इलाज के लिए चौकीदार को मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। चौकीदार हेमराज केवट के सर के साथ ही सीने, कंधे व हांथ के बाजू में टाइगर के नाखून लगने के गहरे घाव देखे गए डॉक्टरों की टीम ने घायल चौकीदार को खतरे से बाहर बताया है।

Show More
ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned