मीजल्स- रूबेला के निराकरण हेतु टीकाकरण 15 जनवरी से

बच्चों के स्वस्थ्य के लिए कवायद

By: ayazuddin siddiqui

Published: 18 Dec 2018, 05:10 PM IST

उमरिया. मीजल्स एवं रूवेला वैक्सीन के माध्यम से आगामी 15 जनवरी से 15 फरवरी तक एक माह का टीकाकरण अभियान स्कूलोंं आंगनबाडी केन्द्रों तथा लक्षित स्थानों में संचालित कर भारत सरकार द्वारा सन् 2020 तक उन्मूलन के लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु उमरिया जिले में माइक्रों कार्य योजना तैयार कर क्रियान्वित की जाएगी। जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर माल सिंह ने कहा कि इस अभियान के संचालन में स्वास्थ्य , शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ ही स्वयं सेवी संस्थाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। इस कार्य में विभिन्न विभागों के अधिकारी भी अपने मैदानी अमले के माध्यम से टीकाकरण अभियान को गति प्रदान करेगे तथा भ्रमण के दौरान मानीटरिंग करेगे। संबंधित एसडीएम भी अभियान की मानीटरिंग करेंगे। उक्त आशय के निर्देश देते हुए कलेक्टर माल सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे स्कूलवार , आंगनबाडी केंद्र वार तथा ग्राम वार माइक्रो प्लानिंग करे। साथ ही टीकाकरण अभियान का व्यापक प्रचार प्रसार सुनिश्चित करे जिससे कोई भी बच्चा टीकाकरण से वंचित नही रहें। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत आशीष वशिष्ट, डिप्टी कलेक्टर एल के पाण्डेय ,एसडीएम बांधवगढ नीलांबर मिश्रा, एसडीएम मानपुर अनुराग सिंह, एसडीएम पाली दीपक चौहान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजेश श्रीवास्तव, जिला कार्यक्रम अािधकारी महिला बाल विकास श्रीमती शांति बेले सहित विभिन्न विभागों के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित रहे। जिला टीकाकरण अधिकारी ने पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से बताया कि अभियान का संचालन विश्व स्वास्थ्य संस्थान के सहयोग से किया जा रहा है। आपने बताया कि रूवेला (जर्मन खसरा ) के उन्मूलन का लक्ष्य भारत सरकार द्वारा 2020 निर्धारित किया गया है। रूवेला बीमारी से गर्भवती माताओं तथा गर्भ मे पल रहे नवजात शिशु को मोतियाबिंद की जन्मजात बीमारी , दिल मे छेद , रीढ की हड्डी की समस्यां निमोनिया डायरियां , कुपोषण आदि बीमारियां संभावित रहती है। यह टीका नौ माह के बच्चे से लेकर 15 वर्ष तक के बच्चों को लगाया जाता है। नौ माह में टीका लगने के बाद दूसरी डोज 16 से 21 माह तक दी जाती है। आपने बताया कि 15 जनवरी 2019 से 15 फरवरी 2019 तक एक माह का टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। जिसके तहत एएनएम, आंगनबाडी कार्यकर्ता, शिक्षक तथा आशा कार्यकर्ता की टीम नियत तिथि एवं समय में स्कूलों तथा आंगनबाडी केंद्रों में टीकाकरण का कार्य संपन्न करेगी। टीकाकरण के पश्चात संबंधित बच्चे के अंगूठे में दल द्वारा निशान लगाया जाएगा।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned