नागरिकों के सहयोग के बिना नगर को स्वच्छ बनान संभव नहीं

नागरिकों के सहयोग के बिना नगर को स्वच्छ बनान संभव नहीं

ayazuddin siddiqui | Publish: May, 11 2019 09:00:00 AM (IST) Umaria, Umaria, Madhya Pradesh, India

स्वच्छता को लेकर हुई कार्यशाला

उमरिया. नगर को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए कलेक्टर स्वरोचिश सोमवंशी की अध्यक्षता में सामुदायिक भवन उमरिया में अपशिष्ट प्रबंधन पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन संपन्न हुआ। कलेक्टर ने कहा कि नगर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में आम नागरिक की महत्वपूर्ण भूमिका है। स्वच्छता की शुरूआत घरो से होती है जो परिवेश मोहल्ला से होते हुए नगर तक पहुंचती है। जिसमें नगर के नागरिकों की भागीदारी आवश्यक है। नागरिकों के अपेक्षित सहयोग के बिना उमरिया नगर को स्वच्छ और सुंदर बनाना संभव नहीं है। नगर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने के लिए शहर के हर नागरिक को उत्प्रेरक के रूप में कार्य करने की आवश्यकता है। कार्यशाला में पीआईयू रीवा से आये दिग्विजय ंिसह ने कहा कि बगैर लोगों में जागरूकता लाएं, स्वच्छता संभव नहीं है। स्वच्छता ही उत्तम धन है। गंदगी से फैलने वाली बीमारियों से छुटकारा पाने हेतु स्वच्छता आवश्यक है। उन्होने नगरवासियो से अपील की कि कोई भी व्यक्ति अपशिष्ट पदार्थो को गली अथवा खुले सार्वजनिक स्थानो में नही फेके। डिस्पोजल , शेष बचे भोजन को उपयुक्त स्थान में उपयुक्त पात्र में ही भण्डारित कर नगर पालिका को सौपे। खाने या पीने में उपयोग की जाने वाली खाद्य सामग्री की पैकिंग या वितरण प्लास्टिक की थैलियो में नही किया जाना चाहिए। सामान कचरे एवं प्लास्टिक अपशिष्ट को पृथक पृथक संकलित किया जाना चाहिए जिससे उसका डिस्पोजल संभव हो सके। मेंहदी हसन ने कहा कि सामाजिक सरोकार के कार्य जनता के सहयोग के बिना परिणाम तक पहुचा पाना संभव नही है। उन्होने सुझाव दिया कि कचरा संग्रहण हेतु जहंा बडी गाडिया नही जा सकती है वहंा छोटी गाडियो का उपयोग किया जाए। व्यापारी संदीप शाहा ने कहा कि जीवन में स्वच्छता का अत्यधिक महत्व है। इस अभियान में हम सब सहभागी है। उन्होंने नगर पालिका द्वारा संग्रहित कचरे को रिसायकल करने का सुझाव दिया। मुख्य नगर पालिका अधिकारी हेमेश्वरी पटले ने नगर को स्वच्छ रखने के लिये सभी शासकीय एवं अशासकीय कार्यालयों, व्यापारी प्रतिष्ठानो तथा आम नागरिकों से अपने घरो में तीन प्रकार के डस्टबीन उपयोग करने की बात कही है। तीनों प्रकार के डस्टबीनों के रंग अलग-अलग होगें। पहले डस्टबीन मेंं गीला कचरा रखा जायेगा, दूसरे डस्टबीन में सूखा कचरा रखा जायेगा तथा तीसरे डस्टबीन में मेडिकल बेस्ट के कचरे को रखा जायेगा। उक्त कचरे को नगरपालिका के वाहन एकत्रित कर कचरे का निपटान करेगें। जिससे स्वच्छता की दिशा में बेहतर पहल हो सकती है। इस अवसर पर सीएमओ पाली आभा त्रिपाठी, चिम्मन लाल खण्डेल वाल, शासकीय अधिकारी ,कर्मचारी के साथ ही नगरीय निकायो में स्वच्छता से संबंधित कार्य करने वाला अमला उपस्थित रहा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned