शारदीय नवरात्र के आठवें दिन महागौरी की गई पूजा अर्चना

दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालु

By: ayazuddin siddiqui

Published: 25 Oct 2020, 06:27 PM IST

उमरिया. शारदेय नवरात्र के अंतिम चरण में है। गत दिवस शारदेय नवरात्र के आठवे दिन माता महागौरी की विधि विधान से पूजा अर्चना की गई। नगर के ज्वालामुखी धाम मंदिर, शारदा देवी मंदिर, बहरा धाम मंदिर सहित अन्य देवी मंदिरो में सुबह से भक्तों की भीड़ ने कोरोना वायरस को लेकर शासन द्वारा जारी गाईड लाईन का पालन करते हुए माता के दर्शन किए। मंदिर प्रबंधन द्वारा कोरोना वायरस को लेकर समस्त सावधानियां बरती जा रही है, जिससे मंदिर में भीड़ की स्थिति नियंत्रित नही हो सके। आज नौवे दिन सिद्धरात्री माता की पूजा अर्चना की जाएगी।
बिरसिंहपुर पाली एवं नौरोजाबाद उचेहरा धाम में हुई पूजा अर्चना
नवरात्र की मनाई गई अष्टमी बिरसिंहपुर पाली शारदीय नवरात्र की पर्व के दौरान उमरिया के पाली नगर में बिराजी आदिशक्ति जगत जननी माता बिरासिनी के दरबार मे अष्टमी मनाई गई। इस दौरान लोगो ने माता रानी को आटे व गुड से बनाये गए रोट का भोग प्रसाद अर्पित किया। अष्टमी पर्व को मातारानी का श्रृंगार सोने के आभूषण से किया गया साथ ही विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की गई। गौरतलब है कि नवरात्र पर्व के दौरान प्रतिवर्ष यहां हजारों मनोकामना कलश स्थापित भक्तों द्वारा स्थापित कराए जाते थे लेकिन कोरोना बीमारी के कारण प्रशासन ने इस बार कलश स्थापना में रोक लगाई थी जिससे आजीवन ज्योति कलश ही स्थापित कराए गए है जिनका विसर्जन मन्दिर प्रबंधन समिति के द्वारा स्थानीय सगरा तालाब में विसर्जित किया जाएगा। हम आपको बता दे कि कोविड 19 के कारण प्रशासन ने इस बार मन्दिर में दर्शन से लेकर अन्य व्यवस्थाओं में व्यापक बदलाव किए है। इसी तरह नौरोजाबाद क्षेत्र के उंचेहरा धाम में जिले सहित अन्य ग्रामों के श्रद्धालु पहुंच रहे है जहां पर भी भक्तों को कोरोना से बचने के उपाय बताते हुए फेस कव्हर के साथ उन्हें मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। ऐसी मान्यता है कि मां ज्वाला के दर्शन मात्र से ही सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है।
कन्या भोज का हुआ आयोजन
शारदेय नवरात्र के आठवे दिन श्रद्धालुओ द्वारा महागौरी की पूजा अर्चना के पश्चात अपने अपने घरों में सोशल डिस्टेसिंग के साथ कन्या भोज का आयोजन किया तथा कन्या स्वरूप माताओ को कन्या भोज कराकर उन्हें दक्षीणा देते हुए उनका आर्शीवाद प्राप्त किया गया।
पण्डालों में रखी प्रतिमाओं का नगरवासियों ने किया दर्शन
शारदेय नवरात्र के सप्तमी से ही नगरवासी नगर के विभिन्न स्थानों पर विभिन्न मुद्राओ में विराजित जगती जननी का दर्शन करते हुए अपने परिवार के सुख समृद्धि के लिए कामना की। विदित हो कि नगर के जय स्टेशन चौराहा, शारदा मंदिर कालोनी, जय स्तंभ चौक, दीप शू पैलेस, पुराना पोस्ट आफिस, बाबा फूल सिंह वार्ड, झिरिया मोहल्ला, गांधी चौक, धावडा कालोनी, रमपुरी, फजिलगंज, विनोद वीडियो, न्यू बस स्टैण्ड, ज्वालामुखी कालोनी सहित अन्य जगहों पर मां की प्रतिमाएं विराजमान की गई है। पण्डाल तक पहुचने वालें श्रद्धालुओं को समिति प्रबंधक द्वारा कोरोना से बचने हेतु मास्क का उपयोग करने की सलाह दी जा रही है। समिति प्रबंधन द्वारा पण्डाल में कोरोना से बचने हेतु समस्त उपायों को अपनाया जा रहा है। दीप शू पैलेस के बगल से माता की रौंद्र रूप की प्रतिमा स्थापित की गई है। इसके साथ ही पुलिस कर्मी, डाक्टर , सफाई कर्मी की फेस कव्हर किए हुए झांकी, वहां तक आने वाले श्रद्धालुओ को कोरोना से बचने हेतु फेस कव्हर करने का संदेश दे रही है।
आज उठेगा जवारा
शारदीय नवरात्र के आज नौवे दिन मंदिर में बोये गये जवारों का विसर्जन स्थानीय तालाबों में किया जाएगा। जिले के बिरसिंहपुर पाली स्थित मां विरासिनी दरबार में स्थापित जवारा कलशों का विसर्जन किया जाएगा। विदित हो कि कोरोना को देखते हुए इस साल कम संख्या में जवारे स्थापित किए गए है, जिनका विसर्जन आज विधिवत पूजा अर्चना करके किया जाएगा। इस संबंध में जानकारी देते हुए मंदिर संचालन समिति ने बताया कि मंदिर प्रांगण में कुल 451 कलशों की स्थापना की गई है जिसमें 125 तेल वाले कलश तथा 326 घी वाले कलश शामिल है जिसका विधिवत विसर्जन किया जाएगा।

ayazuddin siddiqui
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned