डेढ़ दशक बाद देश को नई राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति मिली - अनुप्रिया पटेल

इशारों इशारों में कहा बंटने की जगह एकजुट रहे, एक बैनर, एक पार्टी के साथ चलें.

By: Abhishek Gupta

Published: 10 Feb 2018, 08:29 PM IST

उन्नाव. "चौबिस में से आठ मेडिकल कालेज उत्तरप्रदेश को मिले हैं। जिला अस्पतालों का उच्चीकरण किया गया है। पीएचसी में भी कई सुविधाओं को देने की योजना है। पंद्रह वर्षों बाद देश में राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति लाई गई है। एनडीए सरकार द्वारा लाई गई स्वास्थ्य नीति 2017 स्वास्थ्य के क्षेत्र में आ रही नई-नई चुनौतियों का सामना करने के लिए पूरी तरह सक्षम है। नई स्वास्थ्य नीति के अंतर्गत बीमार व्यक्तियों के उपचार के साथ उन्हें बीमारी से बचाने पर जोर दिया जा रहा है। जिससे आदमी बीमार ही ना पड़े", केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारत सरकार अनुप्रिया पटेल ने काशीराम कॉलोनी में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उक्त विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार पारंपरिक उपचारों के माध्यम से आम लोगों को स्वस्थ्य रखने की नीति पर कार्य कर रहा है। नेचुरोपैथी, योग का ज्यादा से ज्यादा प्रचार प्रसार किया जा रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय मंच ने योग को अपनाया-
अनुप्रिया पटेल ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व्यक्तिगत रूप से स्वयं 21 जून को एक योग दिवस पर योग करते हैं। अंतर्राष्ट्रीय मंच ने भी योग को अपनाया है और विश्व योग दिवस पर विश्व भर में योग किया जाता है। जिससे एक संदेश गया है कि साथ ही पूरा शरीर स्वस्थ रहता है। पटेल ने कहा कि आज हाई ब्लड प्रेशर , डायबिटीज जैसी बीमारियां कठिन चुनौती के रूप में सामने आ रही हैं। इन बीमारियों पर परंपरिक उपचारों के माध्यम से काबू पाया जा सकता है। सरकार की स्वस्थ नीति पर चर्चा करते हुये उन्होंने कहा कि विश्व के छोटे छोटे देश जैसे बांग्लादेश, श्रीलंका मैं स्वास्थ्य पर जीडीपी का 3% खर्च किया जाता है। जबकि भारत में जीडीपी का 1.3% ही खर्च किया जाता है। एनडीए सरकार ने 2025 तक स्वास्थ्य सेवाओं में जीडीपी का 1.3% से 2.5 प्रतिशत तक बढ़ाने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

बिना सत्ता के समाज में परिवर्तन नहीं-

राजनीतिक पृष्ठभूमि के चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि बिना सत्ता के समाज में परिवर्तन नहीं किया जा सकता है। सारी समस्याओं का समाधान राजनीतिक सत्ता में है। टुकड़ों में बांटकर अलग-अलग चलने से आप की ताकत मजबूत नहीं होगी। इशारों इशारों में उन्होंने पटेल समाज को संदेश दिया कि टुकड़ों-टुकड़ों में बट कर चलने की जगह एक साथ, एक बैनर, एक पार्टी के साथ चलें । जिससे हमारी ताकत बढ़ेगी और सोनेलाल पटेल के सपनों को भी पूरा किया जा सकेगा।

महात्मा गांधी के कारण ही प्रधानमंत्री नहीं बन पाए-

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कारागार राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश जय कुमार जैकी ने कहा कि सोनेलाल पटेल ने जो कारवां चलाया था। उसका उद्देश्य 70 साल बाद भी पूरा नहीं हो पाया। लोकतंत्र के अंदर मत के बिना परिवर्तन नहीं होता है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के कारण ही हमारे समाज के लौह पुरुष सरदार पटेल देश के प्रधानमंत्री नहीं बन पाए। इसलिये जाति को वोट ना डाल कर पार्टी को वोट करें और अनुप्रिया पटेल को मजबूत करें। इसके पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल को गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया। स्कूली बच्चों की तरफ से रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया। इस मौके पर केदारनाथ सचान, राजेश सिंह, कुलदीप पटेल, दिलीप पटेल, साधना सचान मेयर प्रत्याशी लखनऊ, यू पी कटियार, साधना पटेल, हरिशंकर पटेल, अमरेश पटेल सहित बड़ी संख्या में पटेल समाज के साथ अन्य लोग भी मौजूद थे। इस मौके पर फतेहपुर कानपुर नगर हरदोई कन्नौज फर्रुखाबाद से भी पार्टी के कार्यकर्ता व पदाधिकारी बड़ी संख्या में शामिल होने के लिए आए थे।

BJP
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned