उन्नाव में लखनऊ एटीएस की छापेमारी से मोहल्ले वालों की धड़कने तेज, संदिग्ध को साथ लेकर वापस गई

लखनऊ एटीएस विदेशी फंडिंग के मामले में गिरफ्तार युवक को लेकर उसके घर पहुंची। जहां तलाशी के दौरान आधा दर्जन पासपोर्ट के साथ लाखों रुपए की नकदी मिली। छह महीना पूर्व भी किराए पर रहने के लिए अपने परिवार के साथ आया था। शंका जाहिर की गई कि संदिग्ध बांग्लादेशी रोहिंग्या है। जो वहां से भाग कर आया है।

 

By: Narendra Awasthi

Published: 01 Mar 2021, 11:44 AM IST

उन्नाव. देर रात एटीएस की चहलकदमी से सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कासिम नगर में अफरा तफरी रही। लखनऊ एटीएस संदिग्ध शकील को गिरफ्तार कर उसके घर लाई थी। उद्देश्य घर की तलाशी का था। इस दौरान एटीएस को घर के अंदर लाखों रुपए की नगदी सहित कई पासपोर्ट भी मिले। बताया जाता है एटीएस ने विदेशी फंडिंग के मामले में युवक को गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान जानकारी हुई कि मूलत: वह अलीगढ़ का रहने वाला है और विगत 6 महीने से किराए के मकान पर रह रहा है।

 

लोगों की धड़कनें बढ़ी

सदर कोतवाली क्षेत्र के कासिम नगर में अचानक पुलिस की चहल कदमी बढ़ गई जब लखनऊ एटीएस सीओ संतोष कुमार के नेतृत्व में शकील और उसकी पत्नी को लेकर पहुंचे लगभग 1 घंटे तक घर की तलाशी हुई। इस दौरान एटीएस को आधा दर्जन पासपोर्ट के साथ ₹5 लाख नगद भी बरामद हुआ। बताया जाता है और भी कई अहम सुराग मिले हैं। तलाशी पूरी होने के बाद एटीएस शकील को लेकर सदर कोतवाली पहुंची। जहां एक बार फिर उससे पूछताछ हुई। जहां उससे उसकी आमदनी का जरिया पूछा गया साथ ही इतनी बड़ी संख्या में पासपोर्ट के विषय में जानकारी प्राप्त की गई देर रात एटीएस शकील को लेकर लखनऊ चली गई पुलिस चलकर निशांत होने के बाद मोहल्ले में चर्चा का बाजार शुरू हो गया जानकारी मिली की शकील छह महीना पूर्व किराए के मकान पर रहने आया था जहां उसकी पत्नी और 4 बच्चे साथ रहते हैं। मोहल्ले वालों ने शंका जाहिर की कि शकील बांग्लादेशी रोहन दिया है जो वहां से भाग कर आया है।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned