बैंक उपभोक्ताओं को सतर्क करने वाली खबर, कहीं आपका बैंक अकाउंट खाली तो नहीं हो रहा

Narendra Awasthi | Publish: Oct, 13 2018 07:18:56 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 07:18:57 PM (IST) Unnao, Uttar Pradesh, India

बैंक में रखा गया पैसा गायब, उपभोक्ता सर पकड़ कर अपनी किस्मत को रो रहा है, सोच रहा कहां गए अच्छे दिन. मोदी सरकार कहती है पैसा बैंकों में रखो, फ्रॉड करने वाले कहते हैं बैंक में रखा पैसा हमारा, शासन की अदूरदर्शिता और उपेक्षा के कारण धोखाधड़ी करने वालों के हौसले बुलंद नहीं, करती है पुलिस कार्रवाई

 

उन्नाव. सरकार कहती है बैंक में पैसा रखिए, बैंकों में धोखाधड़ी वाले करने वाले कहते हैं बैंक में पैसा रखना खतरे से खाली नहीं है। थोड़ा सा नहीं चूके कि आपका अकाउंट खाली हो जाएगा। खाताधारक का दिवाला निकलता है। फ्रॉड करने वालों की दिवाली हो जाती है। खाताधारक को जब तक जानकारी होती है तब तक फ्रॉड करने वाले अपना काम करके नौ दो ग्यारह हो जाते हैं। फ्रॉड करने वालों कि मदद भी अप्रत्यक्ष रूप में केंद्र सरकार कर रही है। जिसने बैंकों में छुट्टी बेतहाशा बढ़ा दी है। जिसका दुरुपयोग धोखाधड़ी करने वाले करके आराम से बैंक अकाउंट खाली करने का काम कर देते हैं। इसमें मैसेज का भी बहुत महत्वपूर्ण रोल है। जहां बैंक द्वारा भेजे जाने वाले मैसेज सभी अंग्रेजी में होते हैं। जबकि बहुत कम लोग हैं जो अंग्रेजी के ज्ञाता होंगे। ऐसे में फ्रॉड करने वालों को और भी आसानी हो जाती है।


सदर कोतवाली क्षेत्र के राजेपुर मनोहर नगर का मामला

इसी प्रकार का एक मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला राजेपुर मनोहर नगर में सामने आया है। उक्त मोहल्ला निवासी विनोद कुमार ने बताया कि उनके बैंक अकाउंट में सैलरी का ₹15970 विगत 11 अक्टूबर को उनके बैंक अकाउंट आइसीआइसीआइ बैंक की स्थानीय शाखा में आया था। जिसकी जानकारी उनसे पहले फ्रॉड करने वालों को हो गई।बिना उनकी जानकारी के 1 दिन बाद विगत 12 अक्टूबर को उनके बैंक अकाउंट से ₹4999 - ₹4999 दो बार में निकाल लिए गए। जिसका मैसेज भी उनके मोबाइल पर नहीं आया। आज 13 अक्टूबर को एक बार फिर उनके मोबाइल पर ₹6200 निकाले जाने का मैसेज आया। जिसके बाद उनके अकाउंट में मात्र ₹24 .6 पैसे रह गए। मोबाइल में ₹6200 निकाले जाने का मैसेज आने के बाद परिवारी जनों में हड़कंप मच गया। आनन फानन एटीएम में पहुंचे और अपना बैलेंस चेक किया तो पता चला मैसेज सही है और उनके खाते में मात्र ₹24. 6 पैसे रहेगा।

Rs.4999 +Rs.4999 + Ra.6200 निकल गए खाते से

लेकिन 13 अक्टूबर को आये मैसेज में अस्पष्ट लिखा था कि आगामी 15 अक्टूबर 2018 को Rs6200/- रुपये VIN/PAYTM में 15 अक्टूबर 2018 को ट्रांसफर होगा। इस संबंध में पत्रिका ने लीड बैंक मैनेजर से बातचीत की और उनको घटना की जानकारी दी। जिन्होंने आईसीआईसीआई बैंक के मैनेजर से बातचीत करने की सलाह दी। इस संबंध में आईसीआईसीआई बैंक के मैनेजर संजय त्रिवेदी ने एटीएम कार्ड ब्लॉक करने के लिए कस्टमर केयर से बातचीत करने की सलाह दी। सबसे बड़ी विडंबना है कि कस्टमर केयर एटीएम कार्ड में अंकित 16 अंकों का नंबर डालने पर गलत बता रहा है। यह प्रक्रिया कई बार करने के बाद भी जवाब यही आता कि नंबर गलत है। ऐसे में समझा जा सकता है कि बैंकों के माध्यम से लोगों में अकाउंट को खाली करने वाले घाघ एटीएम कार्ड का नंबर भी बदल दिया। परेशान हताश यूपीएसआरटीसी में चालक के पद पर कार्यरत विनोद कुमार बैंक अकाउंट खाली होने से परेशान है। पूरा महीना कैसे कटेगा चिंता सताए।


कस्टमर केयर कार्ड के नंबर को गलत बताता रहा

इस संबंध में विनोद कुमार शुक्ला ने बताया कि वह देर शाम तक कस्टमर केयर से बातचीत करने का प्रयास करते रहे लेकिन बातचीत नहीं हो पाई। आईसीआईसीआई बैंक के मैनेजर संजय त्रिवेदी के प्रयासों से कस्टमर केयर से बातचीत हुई और एटीएम कार्ड को ब्लॉक कर दिया गया। लेकिन सीधे कस्टमर केयर के अधिकारी से बातचीत नहीं हो पा रही थी। उन्होंने कहा शाखा प्रबंधक आईसीआईसीआई बैंक से कहा कि आगामी 15 अक्टूबर को पेटीएम में ट्रांसफर होने वाला 62 सो रुपए को जाने से रोक लिया जाए।

Ad Block is Banned