बार एसोसिएशन की अपील, न करें ऐसा काम, जिससे हो अधिवक्ता समाज की बदनामी

नामजद लोगों से अलग हटकर सर्विलांस और चर्चा को आधार बनाकर किया गया खुलासा...

उन्नाव. हसनगंज जैसी घटनाओं से अधिवक्ता समाज की बदनामी होती है। अधिवक्ताओं को खुद ही विचार करना पड़ेगा कि वह इस तरह की घटनाओं को भविष्य में न होने दें। इसके लिए कोई बाहर का व्यक्ति उन्हें बताने के लिए नहीं आएगा। उन्हें स्वयं ही निर्णय करना पड़ेगा। बार एसोसिएशन के महामंत्री सुशील कुमार शुक्ला ने पुलिस अधीक्षक द्वारा बुलाई गई प्रेस वार्ता के दौरान उक्त विचार व्यक्त किए। इस मौके पर उन्होंने पुलिस अधीक्षक के कार्य की तारीफ भी की। वैसे देखा जाए तो निकट भविष्य में पुलिस द्वारा किए गए खुलासों की तुलना में अधिवक्ता की हत्या का खुलासा सबसे सफल खुलासा है। वरना मौरावां मैं एनआरआई परिवार की सामूहिक हत्या से लेकर औरास मैं अपहरण के बाद दो भाइयों की मौत और बारा सगवर थाना क्षेत्र में लड़की को जिंदा जलाए जाने के मामले के खुलासे पर खुलेआम उंगली उठ रही है।

 

24 घंटे के अंदर पुलिस ने किया खुलासा

बार एसोसिएशन के महामंत्री सुशील कुमार शुक्ला ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि 24 घंटे के अंदर पुलिस ने अधिवक्ता के हत्या के मामले का खुलासा किया है। जिसके लिए पुलिस अधीक्षक बधाई के पात्र हैं। हम भी चाहते हैं कि निर्दोष जेल ना जाए। घटना के दोषियों को पकड़ा जाए। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मामले का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि थानाध्यक्ष और अपर पुलिस अधीक्षक साथ पुलिस अधीक्षक त्वरित कारवाई और 24 घंटे के अंदर खुलासा प्रशंसनीय है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक के समक्ष कहा कि भविष्य में भी अधिवक्ता और पुलिस के बीच सामंजस्य स्थापित करके कार्य किया जाएगा। जिससे कि भविष्य में इस प्रकार की घटनाएं हो और हम लोगों को न्याय के लिए लड़ाई लड़नी पड़े।

 

इस घटना से सबक ले अधिवक्ता समाज

अधिवक्ता समाज को इस घटना से सबक लेने की सलाह देते हुए बार महामंत्री ने कहा कि इस प्रकार की घटनाओं से समाज शर्मिंदा होता है। इसके साथ ही अधिवक्ता समाज की भी बदनामी होती है। उन्होंने कहा कि अधिवक्ता समाज को स्वयं ही सोचना पड़ेगा कि वह इस प्रकार के कार्य न करें । इस पर भी हम लोगों को भी विचार करना होगा। बाहर से कोई नहीं आएगा। यदि सूझबूझ से हम लोग भविष्य में कार्य करेंगे तो इस प्रकार की घटनाएं दोबारा फिर नहीं होंगी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि भविष्य में भी उन्नाव पुलिस और अधिवक्ता समाज एक साथ मिलकर इस प्रकार की घटनाओं का आपस में तालमेल बनाकर कार्य करेगी। पुलिस का सहयोग करने वालों में बार एसोसिएशन अध्यक्ष गिरीश कुमार मिश्रा, सदस्य बार अजेंद्र अवस्थी, वरिष्ठ सदस्य कार्यकारिणी पप्पू लोधी, दीप नारायण त्रिवेदी आदि शामिल है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned