scriptBig action against ADO panchayat, suspended | जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, सहायक विकास अधिकारी को किया गया निलंबित | Patrika News

जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, सहायक विकास अधिकारी को किया गया निलंबित

मुख्य विकास अधिकारी के निरीक्षण के दौरान उपस्थिति पंजिका में हस्ताक्षर होने के बाद भी कार्यालय से गायब मिले प्रभारी सहायक विकास अधिकारी को निलंबित कर दिया गया। डीपीआरओ ने या आदेश जारी करते हुए बताया कि वित्तीय अनियमितताएं भी पाई गई है। जिसकी जांच खंड विकास अधिकारी को दी गई है।

उन्नाव

Published: April 03, 2022 10:40:57 pm

मुख्य विकास अधिकारी के निरीक्षण में रजिस्टर में हस्ताक्षर होने के बाद अनुपस्थित पाए गए प्रभारी सहायक विकास अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है। जिला पंचायत राज अधिकारी ने निलंबन सूचना जारी करते हुए कहा कि इस अवधि में उन्हें जीवन निर्वाह भत्ता देने की जानकारी दी गई है। मामले की जांच सहायक विकास अधिकारी विकासखंड बीघापुर को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। निलंबन अवधि के दौरान हेमंत कुमार मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय से संबंध रहेंगे।

जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, सहायक विकास अधिकारी को किया गया निलंबित

जिला पंचायत राज अधिकारी ने निलंबन नोटिस में बताया है कि विगत 31 मार्च 2022 को फतेहपुर 84 विकासखंड के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान उपस्थित पंजिका के निरीक्षण के दौरान ग्राम पंचायत अधिकारी/ प्रभारी सहायक विकास अधिकारी हेमंत कुमार विकास खंड कार्यालय में उपस्थित नहीं थे। परंतु उनकी उपस्थिति पंजिका में हस्ताक्षर के कॉलम में उनके हस्ताक्षर बने हुए थे। मुख्य विकास अधिकारी ने 31 मार्च 2022 को ग्राम पंचायत झूलेमऊ, दबौली, अहमदाबाद माथर, बुलापुर, हसनापुर जाजा मऊ गैरहतमाली, बरुआ घाट के अभिलेख उपलब्ध कराए जाने के लिए निर्देशित निर्देश दिए थे। लेकिन हेमंत कुमार द्वारा किसी भी ग्राम पंचायत के अभिलेख उपलब्ध नहीं कराए गए।

यह भी पढ़ें

10 माह पूर्व 16 साल की किशोरी घरवालों से नाराज होकर भाग गई थी, अब इस हालत में आ रही वापस

डीपीआरओ ने बताया

नोटिस में लिखा कि इससे स्पष्ट होता है कि हेमंत कुमार उपस्थित पंजिका में नियम विरुद्ध 1 दिन पूर्व ही हस्ताक्षर किया हैं। ग्राम पंचायत के अभिलेख मांगे जाने पर उपलब्ध न कराए जाने के लिए दोषी पाए जाने के फलस्वरूप अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की संस्तुति की गई है। नोटिस में लिखा है कि हेमंत कुमार द्वारा ग्राम पंचायतों के अभिलेख उपलब्ध ना कराए जाने, पदीय दायित्वों का निर्वहन न किए जाने, वित्तीय अनियमितताएं बरतने के लिए प्रथम दृष्टया दोषी पाए जाते हैं। हेमंत कुमार ग्राम पंचायत विकास अधिकारी विकासखंड फतेहपुर 84 को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Udaipur Kanhaiya Lal Murder: उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को NIA कोर्ट जयपुर में किया जाएगा पेशराजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter Pettitionबिकरूकांडः आखिर कौन है जो रहस्यमयी गाड़ियों से अपराधियों के परिवार को पहुंचा रहा है राशनENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्त
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.