गिरफ्तारी वारंट पर साक्षी महाराज का बड़ा बयान, एमपी-एमएलए कोर्ट के फैसले पर कही यह बात

एपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट ने उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है...

By: Hariom Dwivedi

Published: 18 Dec 2018, 05:23 PM IST

उन्नाव. क्षेत्रीय सांसद साक्षी महाराज ने कहा है कि एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट अपने आप को चर्चा में बनाए रखने के लिए उनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। इसमें तीन महीने आगे की तारीख दी गई है। अदालत चाहती तो तत्काल उन्हें नोटिस भेजकर बुला सकती थी, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा कि एमपी-एमएलए कोर्ट अपने नाम के अनुसार केवल विधायक और सांसदों के लिए ही बनाई गई हैं। धोखाधड़ी के आरोपों पर बीजेपी सांसद ने कहा कि उन्होंने किसी की जमीन पर कब्जा नहीं किया है। गौरतलब है एमपी एमएलए कोर्ट ने क्षेत्रीय सांसद साक्षी महाराज के खिलाफ वारंट जारी किया है।

भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि अगर बताया जाता तो मैं खुद कोर्ट में चला जाता। उन्होंने कहा कि नोटिस में आगामी 13 मार्च 2019 की तारीख पड़ी है, जो अभी बहुत दूर है। मैं इसके पहले ही अदालत में हाजिर होकर अपनी बात रख दूंगा। अदालत द्वारा 3 महीने का समय दिये जाने पर भी सवालिया निशान लगाते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि अदालत उन्हें तुरन्त बुला सकती थी या फिर आदेश करते तो तुरंत गिरफ्तार कर पुलिस ले जाती। लेकिन अदालत ने तीन महीने का समय दिया है, जो केवल चर्चा में बने रहने के लिए है।

सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि अभी उन्हें केस की जानकारी नहीं है। बस इतनी जानकारी मिली है कि एमपी-एमएलए कोर्ट ने वारंट जारी किया है। मेरी संस्था ने किसी की जमीन पर कब्जा नहीं किया है, जिसकी जमीन जहां है निकाल ले। हमें जमीन से कोई लेना-देना नहीं है। अदालत के सामने जाकर बता देंगे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जज भगवान होते हैं। यदि पहले बता देते तो हम अदालत में प्रस्तुत होकर अपनी बात रख देते। उनका इलाहाबाद आना जाना लगा रहता है। साक्षी महाराज ने कहा कि यह नया कोर्ट एमपी-एमएलए के लिए बनाया गया है। आजकल लोग अपनी ताकत दिखा रहे हैं तो इन्होंने भी अपनी ताकत दिखाई है।

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned